भारत और पाकिस्तान बॉर्डर पर है यह मंदिर।

Video Description

हेलो फ्रेंड्स मैं आज लेकर आया हु आपको राजस्थान के उस जिले में जो रेत के टिलो (sand dunes) के लिए पुरे विश्व में अपनी एक अलग पहचान बनाये हुए है। रोड के दोनों तरफ आपको ऊँचे ऊँचे रेट के टिले मिलेंगे आज हम जा रहे है तनोट माता जी के मंदिर जिन्हे थार की वैष्णो देवी के नाम से भी जाना जाता है अगर मैं बात करू मंदिर के बारे में तो यहाँ माताजी द्वारा किये हुए बहुत सारे चमत्कार अपनी आँखों से देखे जा सकते है यह मंदिर भारत पाकिस्तान की सीमा से कुछ ही दूर स्तिथ कहा जाता है जब १९६५ में भारत पाकिस्तान के बिच युद्ध हुआ तो माता जी ने यहाँ आसपास के इलाके में रहने वाले लोगो की और भारतीय सैनिको की रक्षा की और हम युद्ध जीतने में कामयाब हुए आसपास के इलाको में पाकिस्तान द्वारा गिराए बम का नहीं फटना अपने आप में बहुत बड़ा चमतकार है वो बम आज भी मंदिर की अलमारियों में जिन्दा रखे हुए है पाकिस्तान की हर कोशिश को माता जी ने विफल कर दिया अगर युद्ध की एक और बात बताऊ तो यह कहा जाता है की पाकिस्तान की सेना जब मंदिर की मूर्तियों को खंदिर कर रही थी तब उन्ही के सैनिको का आपस में इस बात पर झगड़ा हो गया की भगवन की मूर्ति को खंडित करने से क्या मिलेगा? और वो आपस में लड़कर ख़तम हो गए और सबसे बड़ी बात की इस मंदिर की देखभाल और मंदिर में पूजा आरती BSF के जवानो द्वारा की जाती है जो वाकई शरीर में ऊर्जा भर देती है वीडियो देख रहे लोगो से मैं यह जरूर कहूंगा की एक बार टाइम निकल कर मंदिर में दर्शन करने जरूर पधारे और आपको अगर इस जिले की बात बताऊ तो यहाँ मंदिर दर्शन के अलावा भी बहुत से अच्छे टूरिस्ट स्पॉट है जो देखने लायक है जैसे ऊंट की सवारी का आनंद ले सकते है आप सैम सैंड दुनेस में भारत पाकिस्तान की सीमा देखने लायक है जहाँ आपको यह जानकारी मिलती है की किस प्रकार भारतीय सैनिक बॉर्डर पर ड्यूटी करके भारत की रक्षा करते है तो दोस्तों एकबार जरूर आइये जैसलमेर विदा चाहूंगा हाजिर होता हु जल्द किसी नए वीडियो के साथ।

Join more than 1 million learners

On Spark.Live, you can learn from Top Trainers right from the comfort of your home, on Live Video. Discover Live Interactive Learning, now.