कैसे हिन्दू और मुग़ल शासकों ने बनवायी यह जगह?

Video Description

आनासागर झील व अजमेर नगर का निर्माण पृथ्वीराज चौहान के पितामह अरुणोराज या अनाजी चौहान ने बारहवीं शताब्दी के मध्य (1135-1150 ईस्वी) करवाया था। अनाजी द्वारा निर्मित करवाये जाने के कारण ही इस झील का नामकरण अना सागर या आना सागर रखा गया। झील के लिए जलसंभरण का कार्य स्थानीय आबादी द्वारा करवाया गया था। 1627 ईस्वी में शाहजहाँ ने झील के किनारे लगभग 1240 फीट लम्बा बाग़ बनवाया और पाल पर संगमरमर की पाँच बारादरियों का निर्माण करवाया। झील के प्रांगण में स्थित दौलत बाग का निर्माण जहाँगीर द्वारा करवाया गया जिसे सुभाष उद्यान के नाम से भी जाना जाता है। आना सागर का फैलाव लगभग 13 किलोमीटर की परिधि में विस्तृत है।

Join more than 1 million learners

On Spark.Live, you can learn from Top Trainers right from the comfort of your home, on Live Video. Discover Live Interactive Learning, now.