लॉकडाउन अलर्ट: कहीं आप 'Disturbed Sleep' का शिकार तो नही बन रहें

Video Description

लॉकडाउन की वजह से बहुत से लोगों की रूटीन उटपटांग यानी गड़बड़ हो गयी है. डॉक्टर और एक्सपर्ट्स का मानना है कि लॉकडाउन की अवधि में लोग को घर से बाहर निकलने पर रोक है तो ज़्यादातर लोग अपना समय सोकर या टीवी देखकर बिता रहे हैं. जिससे कई लोगों को शारारिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. इन्ही समस्याओं में से एक है डिस्टर्ब्ड स्लीप. डिस्टर्ब्ड स्लीप का संबंध नींद से जुड़ी कई समस्याओं से है. इसमें दिन में देर रात तक सोना या रात में ठीक से नींद ना आना या फिर सुबह देर से उठना जैसी नींद से जुड़ी कई परेशानियाँ शामिल हैं. अगर लॉकडाउन में आप भी इस तरह की परेशानी का सामना कर रहे हैं तो कुछ आसान टिप्स को आजमाकर आप अपनी परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं। डॉक्टर्स और एक्सपर्ट्स डिस्टर्ब्ड स्लीप की समस्या से बचने के लिए सुझाव देते हैं कि लॉकडाउन में बिस्तर से दूरी बनाए रखना ज़रूरी है. ऐसा देखा गया है की लॉकडाउन में ज़्यादातर लोग ऑफीस के काम से लेकर भोजन, टीवी के साथ अधिकांश समय बिस्तर पर ही बिता दे रहे हैं. दरअसल, सारा समय बिस्तर पर गुजारने से व्यक्ति का शरीर आलसी बन जाता है और उसे हर समय सुस्ती और नींद आती रहती है। जिसकी वजह से व्यक्ति रात को पूरी नींद नहीं ले पाता है। इसलिए यह बेहद ज़रूरी है किदिनचर्या को सही ढंग से मैनेज किया जाए.अगर आप ओवरस्लीपिंग जैसी समस्या से बचना चाहते हैं तो अपने जागने और उठने का समय सुनिश्चित करिए. डॉक्टर्स ये भी कहते हैं की अच्छी नींद के लिए वर्कआउट करना बहुत ज़रूरी हैं . आपको बता दूं वर्काउट का असर आपकी नींद पर भी पड़ता है।रोज नियमित एक्सर्साइज़ करने से अनिद्रा और हाइपरसोमनिया जैसे रोगों से काफ हद तक दूर रहा जा सकता है

Join more than 1 million learners

On Spark.Live, you can learn from Top Trainers right from the comfort of your home, on Live Video. Discover Live Interactive Learning, now.