Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » कल्याण और आध्यात्मिकता » भविष्य जानने के लिए क्यों बढ़ते जा रहा है टैरो कार्ड रीडिंग का चलन

भविष्य जानने के लिए क्यों बढ़ते जा रहा है टैरो कार्ड रीडिंग का चलन

  • द्वारा
टैरो कार्ड रीडर

ज्योतिष की दुनिया छोटी नहीं है, प्राचीन काल से ही इसका चलन चलते आ रहा है आज भी कई लोग इसपर काफी विश्वास करते हैं। हो भी क्यों न भला एक यही ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा हम अपने भविष्य का अनुमान लगा सकते हैं। हालांकि अब जैसे जैसे लोगों की रूचि बढ़ते गई वैसे वैसे इसका क्षेत्र भी काफी विकसित हो गया है। अब इस विद्या में भविष्य की जानकारी देने वाली जन्म-कुंडली, हस्तरेखाएं, अंकज्योतिष आदि विधाएं भी शामिल हो गई है, इनमें से ही एक खास विधा है टैरो कार्ड रीडिंग। टैरो कार्ड रीडिंग आजकल काफी ज्यादा चलन में है।

इससे किसी भी जातक के भूत, वर्तमान और भविष्य के बारे में जानकारी कार्ड के माध्यम से दी जाती है। टैरो कार्ड को रहस्य से जोड़कर देखा जाता है क्योंकि टैरो का अर्थ ही है रहस्य। इस विधा में जिन कार्ड्स का प्रयोग किया जाता है वो ताश के पत्तों की तरह नजर आते हैं। यही नहीं उसके ऊपर कुछ रहस्यमय और रंगीन चित्र बने होते है जो लोगों का भविष्य जानने के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं। कहा जाता है कि यह भविष्य में होने वाली घटनाओं का अंदाजा लगाने में ज्योतिष की मदद करते हैं और टैरो कार्ड रीडर इसके जरिए ही लोगों के भविष्य के बारे में बताता है।

भविष्य जानने के लिए दिलचस्प तरीका है टैरो कार्ड रीडिंग

आपको अगर इसमें दिलचस्पी है तो अब आप ये भी सोच रहे होंगे कि आखिर टैरो कार्ड से आपके बारे में ज्योतिष कैसे बताते होंगे, या फिर इसकी प्रक्रिया क्या होती होगी? तो बताते चलें कि टैरो कार्ड रीडर्स भविष्यवाणी के लिए टैरो कार्ड विधा का उपयोग प्रश्न शास्त्र की तरह करते हैं। टैरो कार्ड रीडर्स पूछे गए प्रश्नों के उत्तर देने के लिए तीन कार्ड चुनने के लिए कहते हैं। इसके बाद कॉर्ड्स पर अंकित चित्रों में छुपे संकेतों के आधार पर उत्तर दिया जाता है।

इस पूरी प्रक्रिया में इस्तेमाल किए जाने वाले टैरो कार्ड डेक में कुल 78 कार्ड होते हैं। जिनमें से हर एक कार्ड किसी न किसी खास बात का प्रतिनिधित्व करते हैं। इनमें से हर कार्ड एक अपना एक अलग अस्तित्व होता है। हर कार्ड शुभ व अशुभ को दर्शाता है। इन कार्ड के ऊपर अंक, रंग, संकेत तथा पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु, आकाश जैसे पांच तत्व दर्शाए गए होते हैं, जिनके आधार पर भविष्य का अनुमान लगाया जाता है।

इसके अलावा टैरो कार्ड से जुड़े कुछ और भी दिलचस्प बाते हैं जैसे कि अक्सर ही आपने गौर किया होगा तो टैरो कार्ड रीडर ज्यादातर महिलाएं ही होती है। इसके पीछे भी एक वजह छिपा है दरअसल ये प्रक्रिया पूरी तरह से अनुमान पर आधारित होता है और विज्ञान भी इस बात को मानता है कि सटीक अनुमान लगाने की कला पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में ज्यादा होती है।

लेकिन एक बात और ध्यान रहे कि अगर आप किसी टैरो कार्ड रीडर से परामर्श लेने जाते हैं तो वो इन 78 कार्ड में से सिर्फ तीन कार्ड ही चुनने के लिए ही कहता है। क्योंकि इन तीन कार्ड के जरिए ही आपके समस्या के समाधान मिल जाते हैं, ये तीन कार्ड आपके मनोस्थिति, इच्छा व परिणाम को दर्शाते हैं।

टैरो कार्ड की इतनी सारी खूबियां जानने के बाद अगर आपका भी दिल कर रहा एक बार इसे आजमाने को तो आप कनिका सरीन से संपर्क कर सकते हैं। दरअसल कनिका एक टैरो कार्ड रीडर है, जो कि अपने काम को लेकर काफी ज्यादा भावुक हैं।

कनिका का कहना है कि उन्होने टैरो कार्ड पढ़ना भगवान की कृपा से सीखा है। जब वो काफी छोटी उम्र की थीं तभी से टैरो कार्ड रीडिंग में उन्होने अपनी माँ के साथ अभ्यास करना शुरू कर दिया था। कनिका को भगवान की तरफ से एक ऐसा वरदान मिला है जो बेहद ही कम लोगों को मिलता है। अब उन्हें इस क्षेत्र में सात साल से अधिक अनुभव है।

कनिका सरीन अपने इस ऑनलाइन सत्र में टैरो कार्ड के माध्यम से अपने भूत, वर्तमान और भविष्य को पढ़ सकती है। इसके अलावा वो आने वाले कुछ महीने आपके लिए कैसे होंगे, जैसे व्यवसाय में वृद्धि से लेकर रोमांटिक पार्टनर की तलाश तक के बारे में बताएंगी। आपसे जुड़ी हर जानकारी देने का संभव प्रयास करेंगी। वर्तमान समय में आपके बारे में कौन सोच रहा है?, भाग्यशाली पौधों से लेकर सबकुछ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *