Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » करियर » वर्क फ्रॉम होम: क्यों और कैसे हुआ महत्वपूर्ण? (Work from home: why and how it became important?)

वर्क फ्रॉम होम: क्यों और कैसे हुआ महत्वपूर्ण? (Work from home: why and how it became important?)

  • द्वारा

कोरोना महामारी जो कि विश्व भर में तबाही मचाए हुए है, खास बात तो यह है कि इस वायरस ने लोगों के स्वास्थ पर ही नहीं बल्कि नौकरी पर भी असर डाला है। जी हां इसी बीच एक और चीज ट्रेंड में बना वो है वर्क फ्रॉम होम। इस महामारी को देखते हुए वर्क फ्रॉम होम या रिमोट वर्किंग की सहूलियत सभी कर्मचारियों को मिल रही है। देश-दुनिया की जानी-मानी कंपनियां और बड़े ब्रांड जैसे कि, गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, फ्लिपकार्ट, एप्पल और अमेज़न अपने कर्मचारियों को घर से काम करने का विकल्प अनिवार्य तौर पर उपलब्ध करवा रहे हैं। लेकिन इससे पहले काफी लोगों को ‘वर्क फ्रॉम होम’ के बारे में पता नहीं था वैसे अभी भी काफी कम लोगों पता है कि असल में ये होता क्या है?

क्यों जरूरी हुआ वर्क फ्रॉम होम का चलन ?

जैसा कि हमने ऊपर भी बताया कि कोरोना काल को देखते हुए ये चलन शुरू हुआ, लेकिन इसमें उन लोगों को समस्या ज्यादा हो रही है जो हर रोज सुबह उठकर रोज़ाना अपने दफ्तर या कंपनी जाने के लिए तैयार होते थें। आजकल देश-दुनिया में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए सब तरफ़ चिंता और डर का माहौल छाया हुआ है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी अब कोरोना वायरस को एक महामारी का दर्जा दे दिया है। ऐसे में देश की अर्थवयव्स्था को बचाते हुए व कंपनियों को काम कराने की आवश्यकता थी जिसकी वजह से वर्क फ्रॉम होम की सुविधा शुरू की गई।

यह भी पढ़ें : रेडियो जॉकी बनने का देख रहे हैं सपना, तो इस आलेख से मिलेगी मदद

वर्क फ्रॉम होम से हेल्थ पर पड़ता है निगेटिव असर

एक तरफ जहां कोरोना के डर से लोग घर में काम कर रहे हैं लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि इसका हम सभी के स्वास्थ्य पर विपरीत असर भी पड़ता है। जी हां शोध में पाया गया कि लोग घर पर काम करते हैं तो लॉन्ग ऑवर्स तक काम करते हैं जबकि ऑफिस में ऐसा नहीं है। ऐसे में वर्कर्स की हेल्थ पर नेगेटिव इफेक्टव पड़ता है। यही नहीं जो लोग घर से काम करते हैं वे ना सिर्फ अधिक घंटों तक काम करते हैं बल्कि वे बेहद स्ट्रेस में भी काम करते हैं। इतना ही नहीं, काम के घंटे तय ना होने के कारण ऐसे लोगों की नींद भी डिस्टर्ब रहने लगती है।

घर से काम कर कामयाबी पाने के लिए ध्यान रखें ये बातें

आज के समय में इस खतरनाक माहौल में जो लोग स्वास्थ्य के साथ अपने काम को भी बचाकर रखना चाहते हैं यानि की आर्थिक स्थिति को वो लोग घर से काम कर रहे हैं। लेकिन हम आपको बताएंगे कि आप घर से काम कर कामयाबी को कैसे हासिल करें?

यह भी पढ़ें : सौरभ नंदा बताएँगे कौन सा करियर आपके लिए होगा बेहतर ?

गाइड लाइन्स

सबसे पहले तो घर से काम करने के लिए पहली शर्त यह है कि आप सही माइंड-सेट से इस अवधारणा को सफल बनाने की पूरी कोशिश करेंगे। इस दौरान आपको समझना होगा कि घर से काम करने का यह अर्थ बिलकुल नहीं है कि आप छुट्टी पर हैं। आपको अपने घर पर भी ठीक ऐसे ही काम करना होगा जैसे कि आप रोज़ाना अपने दफ्तर में काम करते हैं।

काम का स्थान

इस बात का भी जरूर ध्यान रखना होगा कि घर से काम करने के लिए आपको अपने घर में काम का स्थान भी सुनिश्चित हो। घर पर आपके काम का स्थान ऐसा होना चाहिए जिसमें आपके पास सभी जरुरी सुविधाएं जैसा कि, लैपटॉप, मोबाइल और इंटरनेट कनेक्शन के साथ आपके बैठने की अच्छी सुविधा भी उपलब्ध हों ताकि आप अपना दफ्तर का सारा काम बखूबी निपटा सकें।

करियर काउंसलर सौरभ नंदा से संपर्क करने के लिए यहां क्लिक करें

काम का परिवेश

ध्यान रहे कि आप अपने घर पर समुचित तरीके से काम करने के लिए काम करने का उपयुक्त माहौल भी कायम रखें। आपके परिवार के सदस्यों की उपस्थिति आपके घर से काम करने में बाधा नहीं बननी चाहिए। अगर आपको किसी बिजनेस कॉल के लिए एकांत चाहिए तो वह आपको अपने घर पर मिलना ही चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *