Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » Uncategorized » ऑनलाइन क्लासेस के क्या होते हैं फायदे और नुकसान ?| Advantages and Disadvantages of online classes

ऑनलाइन क्लासेस के क्या होते हैं फायदे और नुकसान ?| Advantages and Disadvantages of online classes

  • द्वारा
ऑनलाइन क्‍लासेस

कोरोना का असर दुनियाभर में किस हद तक हुआ है इससे हर कोई वाकिफ है। इस महामारी ने हम सभी की जिंदगी को प्रभावित किया है। चाहे बच्चा हो या बड़ा हर किसी की जिंदगी इससे रूक गई थी। कोरोना के डर से लॉकडाउन हुआ और उस समय से लेकर अभी तक बच्‍चों के स्‍कूल बंद है। हालांकि अब लॉकडाउन खत्‍म हो चुका है लेकिन इसके बावजूद स्कूल खोलने का कोई भी अधिकारिक नोटिस नहीं आया है। ऐसे में हर कोई अपने बच्चों की ऑनलाइन क्‍लासेस ही करा रहा है, सभी बच्चे घर पर अपने मम्मी-पापा के मोबाइल, डेस्कटॉप या लैपटॉप से पढ़ाई कर रहे हैं।

Spark.live पर मौजूद निहार हिरानी से संपर्क करने के लिए क्लिक करें

ऑनलाइन टीचिंग एक नया विकल्प है इसलिए इसके बारे में काफी कम लोग जानते है, तो हमारे नेटवर्क Spark.live पर मौजूद निहार हिरानी जो कि एक बेहतरीन ऑनलाइन एडुकेटर व मैथ्स टीचर हैं।  Spark.live  पर आपको किफायती दरों में काफी कुछ सीखने को सकता है ये एक ऐसा मंच है जहां हेल्थ से लेकर धर्म, करियर, पर्सनालिटी डेवलपमेंट, योगा फिटनेस, चिकित्सा सारी सेवाएं उपलब्ध है।

ऑनलाइन क्‍लासेस के फायदे व नुकसान (Advantages and disadvantages of online classes)

देखा जाए तो ऑनलाइन क्‍लासेस अपने देश के लिए एक नई लहर की तरह छाई जिसकी वजह से पढ़ाई के क्षेत्र में एक नया रास्‍ता खोल दिया है और आने वाले दिनों में इसका विस्‍तार होने की पूरी संभावना है। ज्‍यादातर बच्‍चे ऑलाइन क्‍लासेस से खुश है। वहीं, कुछ स्‍कूल ऐसे भी है जो आगे भविष्य में भी इसी पैटर्न को फॉलो करने की सोच रहे हैं। जहां एक तरफ लोग इसके फायदे गिना रहे हैं वहीं कई लोगों का मानना है कि इससे काफी नुकसान भी है। तो आज हम अपने इस लेख में आपको इसी विषय के बारे में विस्तृत रूप से बताएंगे कि आखिर ऑनलाइन क्‍लास से बच्‍चों को क्या फायदे हैं और क्‍या नुकसान (Advantages and disadvantages of online classes) होते हैं।

ऑनलाइन क्‍लासेस के फायदे | Advantages of online classes

समय की बचत

अगर बात करें फायदों की तो सबसे पहला फायदा तो यही है कि ऑनलाइन क्लासेज के कारण बच्‍चों का ट्रेवलिंग का समय बचता है, जिससे वो आराम से उस समय को पढ़ाई में लगा पाते हैं। दरअसल कई बार ऐसा होता है कि दूर दराज से जो बच्चे पढ़ने आते हैं उनका आधा वक्त ट्रैवलिंग में ही गुजर जाता है जिसकी वजह से वो थक जाते हैं और फिर कोई भी एक्स्ट्रा एक्टिविटी नहीं कर पाते हैं। लेकिन ऑनलाइन क्‍लासेस से अब उनके पास इतना समय होता है कि वो अपने मनपसंद चीजों जैसे म्‍यूजिक, डांस, पेंटिग इत्‍यादी में मन लगा पाते हैं।

यह भी पढ़ें : ऑनलाइन लर्निंग: यह कैसे काम करता है? |Online Learning: How Does It Work?

सुविधाजनक है

ऑनलाइन क्‍लासेस काफी सुविधाजनक है और इससे ज्यादा सुविधाजनक कोई और माध्यम हो भी नहीं सकता। इसके माध्यम से बच्‍चे घर बैठे, बिना स्‍कूल जाए पढ़ सकते हैं। जहां चाहें वहां बैठकर पढ़ सकते हैं। इस से बच्‍चों को गर्मियों के मौसम में काफी आराम मिल रहा है जिससे वो अपनी एनर्जी अच्छे से यूज़ कर सकते हैं।

गैजेट से रूबरू

जैसा कि आपको भी पता ही होगा कि ऑनलाइन क्लासेस वीडियो चैट के माध्यम से चलाए जा रहे हैं इससे बच्चे तकनीकि तौर पर निपुर्ण हो रहे हैं। यही कारण है कि आज के समय में सभी बच्‍चों को गैजेट की अच्‍छी खासी जानकारी है। उनमें ऑलाइन से जुड़ी नई-नई चीजें जानने की ललक बढ़ रही है। ऑनलाइन क्‍लासेस से बच्चों ने तकनीक के इस्तेमाल का नया तरीका सीखा है। वहीं, ऑनलाइन क्‍लासेस से टीचरों ने भी पढ़ाने का नया तरीका सीखा है और बच्चों को पढ़ाने और पढ़ाई के प्रति रूचि बढ़ाने के नए रास्ते ढूंढें हैं।

पैसों की बचत

ऑनलाइन क्‍लास से पेरेंट्स के जेब का बोझ थोड़ा कम हुआ है। ट्रेवलिंग में खर्च होने वाले पैसों की बचत हो रही है। इस तरह से पेरेंट्स अब अपने बच्‍चों के लिए ऑलाइन कोसेर्स के बारे में भी सोच रहे हैं। अब वो अपने बच्‍चों को मंहगे कोचिंग सेंटर नहीं भेजना चाहते। कई राज्‍य सरकारें भी इस पर विचार कर रही हैं।

सुरक्षित

एक खास बात यह भी है कि इस दौरान बच्चे अपने घर में हमेशा माता-पिता के सामने रहते हैं इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से यह बहुत ही फायदेमंद है। माता-पिता को यह भी पता चल पाता है कि उनके बच्चे को पढ़ाई में क्या दिक्कतें आ रही है। वहीं, अभिभावकों के सामने ही चल रही क्‍लासेस से वो भी टीचरों और बच्चों का आसानी से आकलन कर पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : सौरभ नंदा बताएँगे कौन सा करियर आपके लिए होगा बेहतर ?

ऑनलाइन क्‍लासेस के नुकसान| Disadvantages of online classes

अब बात करते हैं ऑनलाइन क्लासेस से होने वाले नुकसान की…

माहौल ना मिलना

कई लोगों का कहना है कि इस ऑनलाइन क्लास के चलने के कारण बच्चों को स्‍कूल, कॉलेज या कोचिंग सेंटर वाला माहौल नहीं मिल पा रहा है, जैसे कि वो वहां पर दूसरों के सम्पर्क में रहते हुए कुछ सीखते हैं। लेकिन अब वो ऑनलाइन में ही सिमटकर रह गए है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि ऑनलाइन क्‍लासेस में हम अकेले ही होते हैं और किसी से कोई सीधा सम्पर्क नहीं होता, जिससे हम जल्द ही बोर हो जाते हैं। इसलिए लर्निंग इन्वायरमेंट की कमी के कारण हम ज्यादा कुछ हासिल नहीं कर पाते। ऑनलाइन क्‍लासेस में स्कूल का माहौल न होने से बच्चों का पढ़ाई में में मन भी कम लगता है।

बच्चों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं | Online classes for kids

भटकने का डर

कुछ पैरेंट्स का मानना है कि बच्‍चों के हाथों में मोबाईल होने से वो इसका गलत इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं, जैसे गेम खेलना, ऑनलाइन दूसरी ऐसी जानकारियों को जानना जिसकी कभी उनको आवश्‍यता नहीं है। इसलिए पेरेंट्स के लिए जरूरी है की वो अपने बच्‍चे को मोबाईल देने के बाद भूल ना जाए, बल्कि बीच-बीच में उसे चेक करते रहें।

ऑनलाइन क्‍लासेस से आंखों पर पड़ता है बुरा असर

अगर देखा जाए तो ऑनलाइन कक्षाओं की वजह से बच्चों की आंखों और स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है। इतना ही नहीं कई बार तो ऑनलाइन क्‍लासेस के बीच में ही नेटवर्क संबंधी समस्याएं भी आती है जिसकी वजह से बच्चों को परेशानी होती है। साथ ही, ऑनलाइन क्‍लास में साइंस और सोशल साइंस के प्रैक्टिकल नहीं हो पा रहे हैं। वहीं, टिचरों के साथ छात्रों का इंटरैक्शन नहीं हो पाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *