Read Home » read » जीवनशैली और रहन-सहन » टॉक्सिक रिलेशनशिप के होते हैं ये लक्षण, गलती से भी न करें अनदेखा

टॉक्सिक रिलेशनशिप के होते हैं ये लक्षण, गलती से भी न करें अनदेखा

  • द्वारा
sign of toxic relationship-

रिलेशनशिप चाहे कोई भी हो उसमें प्यार होना बेहद जरूरी है, लेकिन वहीं बात करें पति पत्नी या फिर लव पार्टनर की तो ये रिश्ता प्रेम पर ही टिका होता है। यह भी सच है कि एक अच्छे रिलेशनशिप में होते हैं तो आप खुश होते हैं और आपके अंदर हमेशा सकारात्मक भावनाएं रहती हैं जिसके कारण आपका रिश्ता गहरा होता है। लेकिन आज के समय में ऐसा कम ही देखने को मिलता है। आज हम आपको रिलेशनशिप के एक ऐसे पहलू से रूबरू कराने जा रहे हैं जो आपको सुनकर कड़वा तो लगेगा ही लेकिन यह पूरी तरह से सच भी है।

कई बार ऐसा होता है कि हम रिलेशनशिप होकर भी खुद को अकेला, निराश और दुखी महसूस करते हैं क्योंकि हम गलत लोगों से संबंध बना लेते हैं ऐसे में ये संबंध हमारे जीवन में जहर का काम करता है। ये रिश्ता इतना बुरा हो जाता है कि इसका असर हमारे मन मस्तिष्क पर भी इसका बेहद बुरा असर पड़ता है। धीरे धीरे समय के साथ ही ये रिश्ते आपको बोझ महसूस होने लगते हैं और आप इससे दूर भागने की कोशिश करते हैं ऐसे रिलेशनशिप को मनोवैज्ञानिकों ने टॉक्सिक रिलेशनशिप का नाम दिया है, इसे हिंदी में विषाक्त रिश्ता कहा जाता है।

सामान्य रिलेशनशिप में दो लोगों के बीच ऐसा बंधन दिखता है जो जीवन के हर सफर में एक दूसरे का साथ देते हैं, एक दूसरे की खुशी के बारे में सोचते है लेकिन टॉक्सिक रिलेशनशिप में ठीक इसके विपरीत होता है। इसमें लोग सिर्फ अपनी खुशी के बारे में ही सोचते हैं। उन्हें अपने साथी की भावनाओं से कोई मतलब नहीं होता है। इस रिलेशनशिप में रह रहे लोगों के अंदर अक्सर अपने रिश्ते को लेकर संदेह रहता है।

टॉक्सिक रिलेशनशिप आपके अंदर की भावनाओं को पूरी तरह खत्म कर देता है जिसके कारण आप अपने साथी से दूर भागने लगते हैं। इसलिए अगर आपको भी लगता है कि अपना रिश्ता एक टॉक्सिक रिलेशनशिप की तरफ मुड़ रहा है या फिर आपको भी अपने रिश्ते में कुछ ऐसा महसूस हो रहा है तो आपको एक रिलेशनशिप काउंसलर की जरूरत है जो आपके रिश्ते को बचाने में और आपको इन अवसाद से उबरने में काफी हद तक मदद करेंगी।

अब हम जान लेते हैं उन लक्षणों के बारे में जिनसे पता चल सकता है कि कौन सी चीजें आपके रिलेशनशिप को टॉक्सिक बनाती हैं।

टॉक्सिक रिलेशनशिप के लक्षण

सबसे पहले तो यह जान लें कि ऐसे रिलेशनशिप में होते हैं तो आप अपने साथी से खुलकर बात नहीं कर पाते हैं। आपको हमेशा ही अपने साथी के सामने दिखावा करना पड़ता है। यही नहीं आप अक्सर ये कोशिश करते हैं कि आप अपने पार्टनर को छोटी से छोटी बातों पर नीचा दिखा सके। कई बार तो किसी अच्छी चीज में भी आपको उसके अंदर बुराईयां ही नजर आती है।

अगर कभी आपके और आपके पार्टनर के बीच कोई बहस हो जाती है तो आपको हमेशा ही उस दौरान जीतना होता है चाहे वो बहस आपके रिश्ते को खत्म करने की ही क्यों न हो लेकिन उस समय भी आपकी जीत ही मायने रखती है। अक्सर ही खुद को ऊंचा व सर्वश्रेष्ठ दिखाना कभी न झुकना, टॉक्सिक रिलेशनशिप की पहचान है।

भले ही इस रिश्ते में लोग साथ रह रहे होते हैं लेकिन इसमें कभी भी अपने पार्टनर की समस्याओं को सुनने की या उसका समाधान निकालने की कोशिश नहीं करते हैं। बल्कि कई जगहों पर तो वो एक दूसरे की समस्याओं को अनदेखा भी कर देते हैं। इस दौरान भी इनके बात करने का तरीका बिल्कुल अलग होता है जिसकी वजह से ऐसी परिस्थिति में आप नहीं चाहते हुए भी आप अपने पार्टनर को दुख पहुंचा देते हैं।

Couple after a fight sitting on bench

टॉक्सिक रिलेशनशिप में एक चीज और अक्सर ही देखने को मिलती है और वो है एक-दूसरे के प्रति जलन भी भावना होती है। आपका पार्टनर हमेशा आपको शक कि निगाहों से देखता है और हर बात के लिए आपको गलत ठहराता है। यह रिलेशनशिप में प्यार व चिंता होता तो है लेकिन बस दिखावा मात्र के लिए क्योंकि ये इन दोनों के बीच विश्वास के अभाव को भी दर्शाता है, जो एक अच्छे रिश्ते में दूरी बढ़ाता है।

टॉक्सिक रिलेशनशिप या अन्य कोई भी रिश्तों से संबंधित समस्या, आपकी मदद कर सकती हैं रिलेशनशिप काउंसलर प्रिया सिंह। यह एक प्रोफेशनल रिलेशनशिप काउंसलर हैं और इन्होने अभी तक कई रिश्तों की समस्याओं को सुलझाया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *