Read Home » read » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » फाइबर युक्त आहार: वो खाद्य पदार्थ जो पाचन तंत्र में करते हैं सुधार

फाइबर युक्त आहार: वो खाद्य पदार्थ जो पाचन तंत्र में करते हैं सुधार

  • द्वारा
High Fiber Food

हमारे शरीर तभी स्वस्थ रह सकता है जब पाचन तंत्र सही हो, लेकिन अक्सर ये देखा गया है कि लोगों की पाचन क्रिया सही नहीं होती है। हालांकि आहार विशेषज्ञों का कहना है कि शरीर में रोगों का मुख्य जड़ पेट को ही माना जाता है। दरअसल पाचन तंत्र हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है इसे स्वस्थ रखने के लिए हमें अपने आहार में फाइबर युक्त आहार लेने की आवश्यकता है। पाचन तंत्र का काम हमारे भोजन को पचाना और उससे मिलने वाले पोषक तत्वों को पूरे शरीर तक पहुंचाना होता है इसलिए पाचन तंत्र का हमेशा सही रहना जरूरी होता है।

पाचन तंत्र को सही बनाए रखने के लिए फाइबर युक्त भोजन का सेवन इसलिए जरूरी है क्योंकि इससे पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने की क्षमता होती है। हालांकि ये भी कहा जाता है कि शरीर में फाइबर की कमी होने के कारण दिल की बीमारी और डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे आइए जाने फाइबर युक्त आहार बताने जा रहे हैं जिसके सेवन से आपका पाचन तंत्र तो सही रहेगा ही इसके साथ ही साथ आप रोगों से भी दूर रहेंगे।

यह भी पढ़े : ये १० प्रोटीन युक्त आहार जिनमें एक अंडे से भी अधिक होता है प्रोटीन

फाइबर के प्रकार

फाइबर भी दो प्रकार का होता है १. एक घुलने वाला और २. एक न घुलने वाला।

घुलने वाला फाइबर पानी में आसानी से मिल जाता है। अगर आप अपने आहार में इस फाइबर का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो यह पेट में जाकर गाढ़ा तरल पदार्थ बन जाता है, जो कि शरीर में कोलेस्टेरॉल बनने से रोकता है। वहीं दूसरा यानि की न घुलने वाला फाइबर लेने से पेट आसानी से साफ हो जाता है।

हालांकि इस चीज का भी ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि हमें कितनी मात्रा में फाइबर युक्त भोजन लेनी चाहिए। आहार विशेषज्ञ का मानना है कि फाइबर की मात्रा अपने आहार में बढ़ाने से पहले ध्यान रहे कि शरीर को पूरी तरह हाइड्रेट रखना न भूलें। फाइबर आंतों में पानी को खींचता है, जिससे शरीर में पानी की कमी हो सकती है। इसलिए अपने आहार में पानी की मात्रा ज़रूर बढ़ाएं। तो आइए जानते हैं फाइबर युक्त आहार के बारे में ..

फाइबर युक्त आहार

सेब

सेब में एक घुलनशील फाइबर पेक्टिन पाया जाता है। यह मल की मात्रा को बढ़ाता है। इसलिए आमतौर पर कब्ज और दस्त की समस्या को दूर करने में मदद करता है। साथ ही यह आंतों के संक्रमण के जोखिम को कम करने के साथ−साथ बृहदान्त्र में भी सूजन को कम कर सकता है।

दाल

प्रोटीन की मात्रा रखने वाली दाल में फाइबर भी होता है। अगर कभी आपका मन सिर्फ दाल खाने का न करें, तो इसे आप सूप या सैलेड में भी डाल सकते हैं। फाइबर और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा पाई जाने वाली दाल आपके एनर्जी के लेवल को बढ़ाती है। साथ ही इसकी पेट में पचने की क्रिया भी काफी धीरे होती है, जिससे आपकी एनर्जी लंबे समय तक के लिए बनी रहती है।

यह भी पढ़े : शरीर में आयरन की कमी को दूर करेंगे ये आयरन युक्त आहार

चिया बीज

अगर आप साबुत चिया बीज का सेवन करते हैं, तो यह शरीर को पूरी तरह से अपने स्वास्थ्य संबंधित फायदे दिए बिना ही निकल जाते हैं। वहीं पिसे हुए चिया बीज को आप कुकीज़, मफ़िन, ब्रेड और आटे में भी मिला सकते हैं। चिया बीज में मौजूद फाइबर आपके आंत में प्रोबायोटिक्स के विकास को बढ़ावा देते हैं। जिससे पाचन में मदद मिलती है।

फल

फल जैसे सेब, अनार, तरबूज और नाशपाती में भी फाइबर की मात्रा पाई जाती है। सेब में पाया जाने वाला एंटी-ऑक्सीडेंट गुण आक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर शरीर को स्वस्थ रखने का काम कर सकता है। सेब का सेवन साबुत कर सकते हैं, इसका जूस बनाकर पी सकते हैं या फिर फ्रूट सलाद में डालकर खा सकते हैं। इसके अलावा अनार, तरबूज, व नाश्पाती को भी आप सलाइ के रूप में सेवन कर सकते हैं।

नट्स और सीड्स

नट्स और सीड्स का सेवन से भी कई प्रकार की बीमारियों से बचा जा सकता है। नट्स में प्रोटीन, फाइबर, खनिज, टोकोफेरोल (विटामिन-ई का एक प्रकार), फाइटोस्टेरोल और फैनोलिक जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये पोषक तत्व मधुमेह, हृदय रोग, पथरी, उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और सूजन जैसी कई समस्याओं को दूर रखने में मदद कर सकते हैं। इसमें फाइबर की प्रचूर मात्रा उपलब्ध होती है।

किसे कितनी मात्रा में लेनी चाहिए फाइबर

एक मध्य युवा को रोज़ाना 15 ग्राम तो महिलाओं को एक दिन में 21 से 25 ग्राम वहीं पुरूष को एक दिन में 30 से 38 ग्राम तक फाइबर अपने आहार में ज़रूर शामिल करना चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *