Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » अवसाद / डिप्रेशन से निजात पाने के लिए योग है बेस्ट ऑप्शन

अवसाद / डिप्रेशन से निजात पाने के लिए योग है बेस्ट ऑप्शन

  • द्वारा
अबसाद

हर व्यक्ति के जीवन में कुछ न कुछ समस्याएं जरूर आती हैं कुछ लोग तो इसे इग्नौर करके आगे निकल जाता है तो वहीं कई लोग इसकी वजह से निराश रहने लगते हैं। देखते ही देखते ये निराशा उनपर हावी होने लगती है जिसकी वजह से इंसान अवसाद / डिप्रेशन से ग्रसित होने लगता है। दरअसल लगातार निराशावादी रहने से व्यक्ति अवसाद में चला जाता है। पर गौर करने वाली बात तो यह है कि शुरूआत में व्यक्ति को पता ही नहीं लगता है कि वह अवसाद की चपेट में आ चुका है लेकिन जैसे जैसे वक्त बीतता है वो समझ जाता है कि वह अवसाद से घिर चुका है।

अवसाद / डिप्रेशन की समस्या को दूर करेगा योग

अवसाद में होने के बाद व्यक्ति के अंदर कई सारे बदलाव नजर आने लगते हैं जैसे कि चिड़चिड़ापन, गुस्सा आदि जैसे भावों का जन्म होने लगता है। वो खुद को लोगों से दूर करने लगता है और लोगों से बात करने में हिचकिचाता है। ऐसे व्यक्ति को हर समय निराशा और अशांति जैसा माहौल लगने लगता है। यही नहीं कई बार तो उसे सुख, शांति, सफलता आदि भी उसे गलत लगने लगते हैं। व्यक्ति पर हद से ज्यादा तनाव हावी हो जाता है। 

अवसाद की समस्या इस कोरोना काल में बढ़ते ही जा रही है, हो भी क्यों न एकाएक जो हम सभी के जीवनशैली में बदलाव हुआ है इसका असर कहीं न कहीं जरूर पड़ता है। क्या आपको पता है कि अवसाद को दूर करने के लिए योग का सहारा लिया जा सकता है। ये तो आपको भी पता होगा कि योग के जरिए कई बीमारियां दूर होती है, चाहे मानसिक हो या शारीरिक।

यह भी पढ़ें : सोशल डिस्टेंसिंग में योग करने के पीछे छिपी है ये ५ वजहें, हर किसी का जानना है जरूरी

आज हम बात करेंगे योग के उन आसनों के बारे में जिनसे अवसाद से राहत मिल सकती है। इसके लिए आप चाहे तो योग प्रशिक्षक से सहायता ले सकते हैं, हमारे नेटवर्क से जुड़े आपको योग विशेषज्ञ मिल जाएंगे जो आपको कई बीमारियों से लड़ने के लिए उनसे जुड़े आसन बताएंगे।

अवसाद / डिप्रेशन दूर करने के योगासन

बालासन

योग के कई सारे आसन जिनमें से एक बालासन भी है। योग की ये मुद्रा आराम करने की है, इसलिए इसे आप कभी भी कर सकते हैं। योग विशेषज्ञों की मानें तो इस आसान को करने से तनाव और थकान में छुटकारा मिलने के साथ ही अवसाद में राहत मिलती है।

शवासन

अवसाद / डिप्रेशन से छुटकारा पाने के लिए एक आसन का नाम शवासन है। जैसा कि नाम से ही समझ आता है कि यह शव शब्द पर रखा गया है। शवासन एक आराम करने की मुद्रा है। इस आसन को करने से दिमाग शांत रहता है और तनाव और अवसाद जैसी समस्या से छुटकारा मिलता है।

सुखासन

अवसाद को दूर करने की एक मुद्रा सुखासन भी है, इसे करने से सुख और शांति मिलती है इसलिए इसे सुखासन कहते हैं। सुखासन से ब्लड सर्कुलेशन अच्छा रहता है। इस आसन को नियमित करने से मन उदास नहीं रहता है और अवसाद में राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें : शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए क्यों जरूरी है योग ?

भुजंगासन

अवसाद / डिप्रेशन को खत्म करने के लिए आप भुजंगासन भी कर सकते हैं। इस आसन के नाम से ही पता चलता है कि इसका मतलब सांप से है। इस आसन में सांप की तरह फन फैलाने की मुद्रा होती है। इसको करने से अवसाद को दूर करने में फायदा होता है। इसके अलावा यह शरीर में ऊर्जा बढ़ता है और पीठ दर्द में फायदा करता है।

सेतुबंधासन

सेतुबंधासन भी अवसाद को दूर करने में मदद करता है, ये आसन दो शब्दों से मिलकर बना है। इसमें सेतु का मतलब पुल और बंध का मतलब बांधना से है। कहते हैं कि इस आसन में शरीर को सेतु की मुद्रा में बांध या रोक कर रखते हैं। इससे रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आता है, जिससे कमर दर्द की समस्या से निजात मिलती है। इसके अलावा यह उदासी को दूर करता है।

योग के जरिए मानसिक रूप से स्वस्थ्य रहने के लिए आप हमारे नेटवर्क पर मौजूद योग विशेषज्ञ सागर कांबले से संपर्क कर सकते हैं, जो आपको इस लॉकडाउन में भी फिट रहने में मदद करेंगे

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *