Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » प्राकृतिक उपायों से ऐसे पाएं एसिडिटी से निजात (Natural ways to fight acidity)

प्राकृतिक उपायों से ऐसे पाएं एसिडिटी से निजात (Natural ways to fight acidity)

Acidity

एसिडिटी या हार्टबर्न एक आम परेशानी है जो हर किसी को कभी न कभी प्रभावित करती है। जब पेट में सामन्य से अधिक मात्रा में एसिड बनने लगता है, तब उसे एसिडिटी कहा जाता है। खाना स्किप करना, अधिक मात्रा में खाना, मसालेदार भोजन या अधिक नमक, यह सब एसिडिटी के कारण हो सकते हैं। इसके अलावा कोल्ड ड्रिंक्स, फ्राइड स्नैक्स, धुम्रपान अथवा शराब का लगातार सेवन, अधिक स्ट्रेस या नींद की कमी भी आपको एसिडिटी दे सकते हैं। एसिडिटी के लक्षण हैं – पेट या भोजन नली में जलन, डकारें, जी मिचलाना, सांस की बदबू और खट्टी डकार।

Also Read – ओमेगा 3 के लाभ(Benefits of Omega 3)

Acidity

Also Read – सोशल मीडिया की लत लग गयी है? (Are You Addicted to Social Media?)

एसिडिटी को कंट्रोल करने के लिए यह हैं कुछ कुदरती और सामान्य घरेलु उपाय :

  • नारियल पानी : नारियल पानी पेट और पाचन तंत्र को ठंढक पहुंचा कर जलन कम करता है।
  • छाछ: भोजन के बाद एक ग्लास छाछ पीने से मिर्च-मसाले के हानिकारक असर कम हो जाते हैं।
  • तुलसी: जल्द फायदे के लिए आप तुलसी की ५-१० पत्तियां चबा सकते हैं। पानी में उबाल कर के भी तुलसी का सेवन किया जा सकता है।
  • पुदीना: हरे पुदीने की पत्तियां भी इसके लिए बहुत लाभदायक हैं।
  • केला और खीरा/ककड़ी एसिडिटी से तुरंत आराम पहुंचाते हैं।
  • जलजीरा पीने से भी इसके लक्षण कम होते हैं।
  • लौंग: मुँह में एक लौंग रख कर थोड़ी देर चूसें। इससे पेट में एसिड का स्तर सामान्य होता है।
  • अदरक: अदरक का प्रयोग खाने में तो करें ही, साथ ही इसे पानी में उबाल कर पिए। इससे न सिर्फ एसिडिटी, बल्की सर्दी-खासी से भी राहत मिलेगी।
  • एप्पल साइडर विनेगर: रोज़ सुबह खली पेट एक ग्लास पानी के साथ एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर लेने से पेट का एसिड स्तर मेन्टेन रहता है।
  • पानी: पानी डाइजेशन के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। रोज़ लगभग दो लीटर पानी अवश्य पियें। पानी पेट के एसिड को पतला कर के जलन व हरारत को काम करता है।
  • नीम्बू पानी का एसिडिटी के दौरान सेवन ना करना बेहतर है। नीम्बू में सिट्रिक एसिड होता है जो इसे और भी बढ़ा देता है।
Doctor

Also Read – 14 विभिन्न प्रकार के योग और उनके लाभ(14 different types of yoga and their benefits)

यदि एसिडिटी फिर भी कंट्रोल न हो रही हो, तो इमरजेंसी के लिए हमेशा घर पे ईनो ज़रूर रखें। यदि आपकी एसिडिटी तीन दिनों से ज़्यादा से ठीक नहीं हो रही, तो डॉक्टर के पास अवश्य जाएं क्यूंकि उसके पीछे और कोई बड़ा कारण हो सकता है। एक्सरसाइज को कभी भी नज़र अंदाज़ ना करें। एक्सरसाइज करने से खाना सही तरह से पचता है और पाचन सम्बंधित परेशानियां दूर रहती हैं।

“प्राकृतिक उपायों से ऐसे पाएं एसिडिटी से निजात (Natural ways to fight acidity)” पर 2 विचार

  1. पिंगबेक: धूम्रपान के स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits of Smoking)

  2. पिंगबेक: बनाएं डाइट चार्ट और वज़न घटायें स्वस्थ तरीके से Design Diet Chart For Weight Loss

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *