Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » राष्ट्रीय पोषण सप्ताह: ये बातें जानना है जरूरी| National Nutrition Week: These Things To Know

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह: ये बातें जानना है जरूरी| National Nutrition Week: These Things To Know

  • द्वारा
National Nutrition Week

जैसा कि आपको भी पता होगा कि देशभर में आज से राष्ट्रीय पोषण सप्ताह (National nutrition week) की शुरूआत हो गई है, यह पूरे सप्ताह तक यानि की 1 से 7 सितंबर तक मनाया जा रहा। साल 1982 में इसकी शुरूआत हुई थी जिसके बाद से यह हर साल मनाया जाता है। सबसे पहले इसे खाद्य और पोषण बोर्ड द्वारा शुरू किया गया था। वो हमारे यहां कहते हैं न कि जीवन का अगर सबसे बड़ा सुख कोई है तो वो है निरोग रहना पर आज के समय में यह सुख शायद ही किसी को मिल पाता है।

न्यूट्रीशियन का मानना है कि अगर आप पर्याप्त पोषण आहार का सेवन करते हैं तो आपको बीमारियां नहीं छू सकती। यानि की आपको स्वस्थ रहना है तो सबसे पहले अपने खान−पान पर ध्यान देना होगा। पर जैसा कि हमने पिछले आर्टिकल में भी बताया है कि भारत में पोषण आहार लेने वाले कम है जिसकी वजह से यहां कुपोषण संकट गहराता जा रहा है। कहने का तात्पर्य ये है कि लोगों को शरीर की इन पोषण संबंधी जरूरतों के बारे में पता नहीं होता है जिसकी वजह से उन्हें जागरूक करना बेहद जरूरी है।

हर साल मनाया जाने वाला ये राष्ट्रीय पोषण सप्ताह जो कि एक से सात सितंबर तक मनाया जाता है। इस बार यह और भी ज्यादा चर्चा में है क्योंकि हाल ही में देश के माननीय पीएम नरेन्द्र मोदी ने भी अपने रेडियो प्रोग्राम शो ‘मन की बात’ में पोषण की महत्वता की चर्चा की। आज हम आपको राष्ट्रीय पोषण सप्ताह (National nutrition week) के बारे में कुछ विशेष जानकारी देने जा रहे हैं जिसे जानना बेहद जरूरी है।

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह| National nutrition week

इसके बारे में विस्तृत रूप से जानने से पहले ये समझना जरूरी होगा कि आखिर राष्ट्रीय पोषण सप्ताह है क्या ? तो आपको बता दें कि (एनएनडब्ल्यू) भारत सरकार के महिला और बाल विकास मंत्रालय के अंतर्गत खाद्य और पोषण विभाग आता है जिसने इस सप्ताह का आयोजन किया। यह एक तरह से वार्षिक पोषण कार्यक्रम हैं।

हालांकि आज से पहले काफी कम लोग इसके बारे में जानते थें लेकिन पीएम मोदी ने जैसे ही इसकी चर्चा अपने कार्यक्रम मन की बात में की तभी से लोग इसके लिए रूचि दिखाने लगे। हर साल यह पोषण सप्ताह एक से सात सितंबर के बीच मनाया जाता है। यह सप्ताह मानव शरीर के लिए सही पोषण के महत्व और भूमिका पर प्रकाश डालता है। इसका लक्ष्य है मानव को अवगत कराना कि उसके शरीर के लिए पोषक तत्वों और कैलोरी का संयोजन युक्त संतुलित आहार कितना आवश्यक है।

यह भी पढ़ें : क्या होता है स्वस्थ आहार, स्वस्थ शरीर के लिए क्यों है इतना जरुरी ?

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह के मुख्य प्वांइट| Main point of National nutrition week

  • प्रसवपूर्व देखभाल
  • सर्वोत्कृष्ट स्तनपान
  • पूरक आहार
  • एनीमिया
  • विकास की निगरानी
  • शिक्षा व आहार
  • लड़कियों की शादि करने की सही उम्र
  • स्वच्छता एवं सफाई और खाद्य सुदृढ़ीकरण।

सरकार और अन्य संबंधित संगठनों ने कुपोषण मुक्त भारत के लक्ष्य को हासिल करने के लिए एक एकीकृत दृष्टिकोण अपनाया है।

यह भी पढ़ें : National Nutrition Week 2020: भारत में कुपोषण का संकट (The Crisis Of Malnutrition In India)

कैसे मनाया जाता है राष्ट्रीय पोषण सप्ताह ?

अब ये जानना जरूरी है कि हर साल खाद्य और पोषण बोर्ड राष्ट्रीय पोषण सप्ताह के लिए एक विषय को र्निदिष्ट करता है और देश के सभी चार क्षेत्रों में स्थित अपने 43 सामुदायिक खाद्य और पोषण विस्तार इकाइयों के माध्यम से कार्यशालाओं, क्षेत्र के अधिकारियों के उन्मुखीकरण प्रशिक्षण, जागरूकता सृजन का आयोजन करता है।

इस सप्ताह के दौरान शिविर व सामुदायिक बैठक का आयोजन किया जाता है और यही नहीं इसके अलावा CFNEUs राज्य सरकारों, शैक्षिक संस्थानों और स्वयंसेवी संगठनों के संबंधित विभागों के सहयोग से कार्यशालाओं, व्याख्यान, फिल्म और स्लाइड शो, प्रदर्शिनयों का आयोजन करते हैं। साथ ही साथ शैक्षिक कार्यक्रमों के दौरान, CFNEUs स्वास्थ्य और पोषण के विभिन्न पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करता है जिसके तहत टीकाकरण, स्तनपान, स्वच्छता और स्वच्छता के सिद्धांतों, भोजन की तैयारी के दौरान पोषक तत्वों के संरक्षण सहित महत्व शामिल हैं।

नैदानिक आहार व पोषण विशेषज्ञ से संपर्क करने के लिए यहां क्लिक करें

गर्भावस्था में अगर आपको भी अपने आहार से संबंधित कुछ संकाएं हैं तो हमारे नेटवर्क पर मौजूद नैदानिक आहार व पोषण विशेषज्ञ राधिका अवस्थी से संपर्क कर सकते हैं। राधिका गर्भावस्था आहार विशेषज्ञ हैं। राधिका अवस्थी जैसे पोषण विशेषज्ञ आपको मधुमेह, पीसीओएस, थायरॉयड और एनीमिया जैसी स्वास्थ्य समस्याओं में आपकी मदद कर सकती हैं।

संदर्भ लेख : राष्‍ट्रीय पोषण सप्‍ताह 2018: शिशुओं की सेहत के लिए ट्रेडिशनल फूड है बेस्‍ट

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *