Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » National Nutrition Week: बच्चों के स्वस्थ विकास के लिए जरूरी हैं ये चीजें (These things are Important for the healthy development of children)

National Nutrition Week: बच्चों के स्वस्थ विकास के लिए जरूरी हैं ये चीजें (These things are Important for the healthy development of children)

  • द्वारा

यह पूरा सप्ताह राष्ट्रीय पोषण सप्ताह National Nutrition Week के रूप में मनाया जा रहा है, जो कि 1 से 7 सितंबर के बीच तक चलेगा। इसका मुख्‍य उद्देश्‍य लोगों को शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्‍वों और संतुलित आहार के बारे में जागरुक करना है। वैसे देखा जाए तो आजकल बड़े बुजुर्गों के साथ साथ बच्चों में भी तेजी से मोटापा बढ़ रहा है ऐसे में यह गौर करने वाली बात है कि बच्चों का शारीरिक व मानसिक विकास सही तरीके से हो। डाइटिशियन की मानें तो इसके लिए बच्चों को कुछ खास पोषक तत्वों की जरूरत होती है। आज हम आपको कुछ ऐसे जरूरी पोषक तत्वों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आप अपने बच्चे को रोज की डाइट में दे सकती है जिससे आपके बच्चे का शारीरिक व मानसिक विकास सही से होगा।

बच्चों के स्वस्थ विकास के लिए ध्यान रखें ये बातें

कैल्शियम

बच्चों के आहार में कैल्शियम की ज्यादा आवश्यकता होती है, क्‍योंकि यह बच्‍चों में मजबूत हड्डियों और स्‍वस्‍थ दांतों के विकास के लिए काफी फायदेमंद है। यह मांसपेशियों और हार्ट को हेल्दी रखने के लिए भी आवश्यक है इसलिए बढ़ती उम्र के बच्‍चों को कैल्शियम युक्‍त फूड आइटम्स जरूर खिलाना चाहिए। कैल्शियम के प्रमुख स्‍त्रोत हैं- दूध, पनीर, दही, पालक, ब्रॉकली, टोफू आदि।

फाइबर

ये बात तो सही है कि फाइबर युक्त आहार का सेवन हर किसी के लिए जरूरी है, क्योंकि यह बेहद महत्‍वपूर्ण व फायदेमंद है। लेकिन बच्चों के लिए एक सीमित मात्रा में फाइबर जरूरी है। यह आपके बच्चों के पाचन को दुरुस्त रखने में मदद करता है और बचपन से होने वाले मोटापे के खतरे को भी कम करता है। बच्‍चों की डेली डायट में फाइबर युक्‍त फल और सब्जियां जैसे- नाशपाती, ऐवकाडो, सेब, ओट्स, नट्स आदि शामिल करें।

यह भी पढ़ें : राष्ट्रीय पोषण सप्ताह: ये बातें जानना है जरूरी| National Nutrition Week: These Things To Know

बच्चों में आयरन

अन्य पोषक तत्वों की तरह आयरन भी बच्‍चे के स्‍वस्‍थ विकास के लिए बेहद जरूरी है क्‍योंकि यह रेड ब्लड सेल्‍स बनाने में मदद करता है जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है। बताते चलें कि आयरन की कमी से अनीमिया और अन्य कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं इसलिए कोशिश करें कि आप अपने बच्चे की डायट में पर्याप्त मात्रा में आयरन शामिल करें जैसे- साबुत अनाज, बीन्स, नट्स, अनार, चुकुन्‍दर और हरी पत्तेदार सब्जियां।

विटमिन सी

आयरन के साथ विटमिन सी भी शरीर के लिए आवश्‍यक है, ये बच्चे की इम्यूनिट सिस्टम को मजबूत करने में काफी मदद करता है। यही नहीं विटामिन सी बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य और त्‍वचा के लिए भी फायदेमंद होता है। विटमिन सी आपको कई बीमारियों से लड़ने में भी मदद करता है इसलिए आपको अपने बच्‍चों की डायट में खट्टे फल जैसे- संतरा, आंवला और कीवी के अलावा अन्‍य खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं।

विटमिन डी

अब ये भी बता दें कि विटमिन डी भी बच्चों के लिए बेहद आवश्यक है, यह पूर्ण रूप से बेहतर हड्डियों और दांतों के निर्माण और उनकी मजबूती में मदद करेगा। इसके अलावा, विटमिन डी बेहतर इम्यूनिटी और तंत्रिका तंत्र के सुचारू रूप से काम करने के लिए जरूरी है। विटमिन डी का सबसे अच्‍छा व प्राकृतिक स्‍त्रोत सूरज की रोशनी है लेकिन इसके अलावा आप अपने बच्‍चे को अंडा, मांस, मछली और साबुत अनाज भी खिलाएं ताकि विटमिन डी की कमी ना हो।

इस तरह से बच्चों को खिलाएं हेल्दी खाना

अक्सर ही हम देखते हैं कि बच्चे खाने पीने में बहुत नखड़े करते हैं, ऐसे में मांएं सबसे ज्यादा परेशान होती है क्योंकि उनके बच्चे का आहार अधूरा रह जाता है।

यह भी पढ़ें : कीटोजेनिक आहार: आपके स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है कीटो डाइट?

बच्चों के मुंह में निवाला डालना मांओं के लिए एक मुश्किल चुनौती भी होती है। ऐसा क्या करें कि बच्चे बिना किसी नखरे के आराम से खाना खा लें।

बच्चे कार्टून के शौकीन होते हैं और टीवी देखने के चक्कर में वे खाना-पीना भी भूल जाते हैं। ऐसे में आप उन्हें खाना खिलाने के लिए टीवी का ही सहारा ले सकती हैं।

बच्चों को घीया, टिंडा, चना, पालक, सरसों अपने दुश्मन लगते हैं। वे इन्हें देखना भी पसंद नहीं करते हैं, लेकिन मैं बहुत स्मार्ट तरीके से उन्हें ये सब खिला देती हूं।

नैदानिक आहार व पोषण विशेषज्ञ से संपर्क करने के लिए यहां क्लिक करें

गर्भावस्था में अगर आपको भी अपने आहार से संबंधित कुछ संकाएं हैं तो हमारे नेटवर्क पर मौजूद नैदानिक आहार व पोषण विशेषज्ञ राधिका अवस्थी से संपर्क कर सकते हैं। राधिका गर्भावस्था आहार विशेषज्ञ हैं। राधिका अवस्थी जैसे पोषण विशेषज्ञ आपको मधुमेह, पीसीओएस, थायरॉयड और एनीमिया जैसी स्वास्थ्य समस्याओं में आपकी मदद कर सकती हैं।

संदर्भ लेख : बच्चों की सेहत और न्यूट्रिशियन के लिए जरूरी हैं ये चीजें, बहुत लोग कर देते हैं इग्नोर

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *