Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » कीटोजेनिक आहार: आपके स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है कीटो डाइट?

कीटोजेनिक आहार: आपके स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है कीटो डाइट?

  • द्वारा
Keto Diet

जब भी हमारे मन में फिटनेस को लेकर बात आती है तो एक्सरसाइज के साथ साथ आहार का भी इसमें महत्वपूर्ण रोल रहता है। चाहे वो कोई भी आहार हो कीटो डाइट, एल्कलाइन डाइट, पेलिओ डाइट आदि क्यों न हो ? हम क्या खाते हैं इससे हमारा स्वास्थ काफी प्रभावित होता है। हालांकि अधिकतर लोग इस समय समझने लगे हैं। इस समय कीटो डाइट (कीटोजेनिक डाइट) काफी चलन में है कई लोग तो इसे फॉलोव भी करते हैं लेकिन कुछ लोग इसके बारे में नहीं जानते और काफी कुछ जानना भी चाहते हैं।

आज हम आपको इस लेख के जरिए कीटो डाइट के बारे में काफी कुछ बताने जा रहे हैं इसे जानने के बाद आपके मन में उठ रहे सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे। हालांकि किसी भी तरह के डाइट को फॉलोव करने से पहले एक डाइटिशियन की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए क्योंकि वो आपकी शारीरिक आवश्यकता के अनुरूप ही आपके डाइट चार्ट का निर्माण करते हैं।

यह भी पढ़ें : जानें, कोरोना कहर में डाइटिशियन से मिलना क्यों है बेहद जरूरी

क्या है कीटो डाइट

हाल के समय में भारत में एकाएक कीटो डाइट का चलन बढ़ गया है, फिर भी कुछ लोग अभी तक इसके बारे में नहीं जान पाएं हैं कि आखिर कीटो डाइट होता क्या है? तो बता दें कि इस डाइट में कम कार्बोहाइट्रेड वाली चीजों की प्राथमिकता होती है। इस डाइट से लिवर में कीटोन जन्म लेता है जिसकी वजह से इसे कीटोजेनिक डाइट या फिर लोग इसे लो कार्ब डाइट के नाम से भी जानते हैं। ज्यादातर लोग वजन घटाने के लिए लो-कार्ब डाइट यानि की कीटोजेनिक डाइट को अपनाते हैं। आपके डाइट में कैलोरी प्रोटीन, वसा और कार्बोहाइड्रेट वसा से आती है लेकिन कार्ब को कंट्रोल करने के लिए स्टार्च और शर्करायुक्त भोजन जैसे कि रोटी, पास्ता, चावल, मकई, मिठाई, फल और सब्जियां शामिल की जाती हैं। ऐसे में कीटोजेनिक डाइट में आपको प्रोटीन से भरपूर आहार लेने की सलाह दी जाती है।

कितनी मात्रा में लेना चाहिए कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन और फैट्स

अगर आप कीटो डाइट कर रहे हैं, तो आपकी हर मील में प्रोटीन, कार्ब और फैट का ये मात्रा होनी चाहिए।

फैट- 70 प्रतिशत
प्रोटीन- 25 प्रतिशत
कार्ब- 5 प्रतिशत

लेकिन ध्यान रहे कि ये भी सभी व्यक्ति पर एक जैसा लागू नहीं किया जा सकता, ये अलग-अलग मात्रा में तय किया जाता है। इसलिए कीटो डाइट को फॉलोव करने से पहले किसी डाइटिशियन या फिर आहार व पोषण विशेषज्ञ से जरूर सलाह लें ताकि वो आपकी शारीरिक जरूरत के अनुसार एक निश्चित मात्रा का तय कर सके कि आपको कब कितनी मात्रा में प्रोटीन, कार्ब और फैट लेनी है।

कितना फायदेमंद है केटोजेनिक आहार

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि वजन घटाने के लिए कीटो डाइट का सेवन फायदेमंद तो होता है। आपके शरीर में जमे हुए फैट आपकी स्टोर्ड एनर्जी होती है और कीटो स्टेज में आपकी बॉडी आपके उसी स्टोर्ड फैट को बर्न करेगी और ऐसे आपका फैट लॉस होगा और वेट भी। इसके अलावा केटोजेनिक आहार फॉलोव करने से डायबिटीज़ घटाने में भी काफी मददगार होता है। हालांकि ये डाइट शरीर के साथ दिमाग के लिए एनर्जी का अच्छा स्रोत माने जाते हैं।

यह भी पढ़ें : खुद बनाएं आहार (डाइट) चार्ट और वज़न घटायें स्वस्थ तरीके से Design Your Diet Chart For Healthy Weight Loss

कितना नुकसानदेह है केटोजेनिक आहार

यह भी सच है कि अगर व्यक्ति ज्यादा समय तक लगातार कम कार्बोहाइड्रेट वाले भोजन का सेवन करता है तो इससे उसके शरीर पर बुरा प्रभाव भी पड़ता है। आहार व पोषण विशेषज्ञ का कहना है कि ज्यादा समय तक लो-कार्ब वाले डाइट लेने से लीवर की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। शरीर में कार्बोहाइड्रेट की कमी के कारण अमोनिया का स्तर बढ़ने लगता है, पोषक तत्वों जैसे कैल्शियम, मैग्नीशियम की कमी, मांसपेशियों में कमजोरी, दिमाग पर गहरा असर पड़ता है।

इसलिए आपको अपने कीटोजेनिक डाइट में भी हेल्दी कार्बोहाइड्रेट वाले पदार्थ खाने में शामिल करना चाहिए जैसे ब्राउन राइस, गेहूं, ज्वार, बाजरा, रागी, दाल ये सभी हेल्दी कार्बोहाइड्रेट देते हैं। जो हमारी शरीर में पोषक तत्वों की जरूरतों को पूरा करते हैं।

अगर आप भी वजन घटाना चाहते हैं या फिर अपनी दैनिक आहार में बदलाव लाना चाहते हैं तो आप हमारे नेटवर्क Spark.Live पर मौजूद आहार व पोषण विशेषज्ञ मीनल गड़ा से संपर्क कर सकते हैं जो आपकी शारीरिक जरूरत के अनुसार एक बेहतरीन डाइट चार्ट बनाने के साथ ही साथ आवश्यकतानुसार आपकी दैनिक रूटीन में भी कुछ बदलाव करने की सलाह देंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *