Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » मानसिक स्वास्थ्य का रखना है ख्याल तो जरूर फॉलो करें ये टिप्स

मानसिक स्वास्थ्य का रखना है ख्याल तो जरूर फॉलो करें ये टिप्स

  • द्वारा
मानसिक स्वास्थ्य

स्वस्थ रहने के लिए सिर्फ शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक स्वास्थ का भी सही होना आवश्यक है। हालांकि ये बात काफी कम लोग समझ पाते हैं पर ये पूरी तरह से सच है। हम सभी के लिए मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना उतना ही आवश्यक है जितना कि शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना। मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य हमारे पूरे स्वास्थ का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। हममें से कई लोग ऐसे हैं जो अक्सर ही कुछ गतिविधियों में भाग लेते हैं जो कि हमें शारीरिक रूप से फिट रहने में मदद भी करते हैं जैसे कि जिम करना, टहलना, गेम खेलना आदि को शामिल कर सकते हैं जो हमें शारीरिक व मानसिक रूप से भी स्वस्थ रखते हैं।

मनोचिकित्सकों का कहना है कि केवल अवसाद, चिंता या अन्य विकार नहीं होने का मतलब यह नहीं है कि कोई व्यक्ति मानसिक या भावनात्मक रूप से स्वस्थ है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिसे आप अपनी जिंदगी में अपनाकर मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रख सकेंगे।

यह भी पढ़ें : जानें, मानसिक स्वास्थ्य के लिए भारत किस हद तक है प्रतिबद्ध

मानसिक स्वास्थ्य का ऐसे रखें ख्याल

तनाव को हावी न होने दें

अगर किसी से कह भी दिया जाए कि वह मानसिक रूप से बीमार है, तो उसे लगता है कि सामने वाला उसे पागल कह रहा है। डॉक्टरों का मानना है कि व्यक्ति को अपने शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ अपने मानसिक स्वास्थ्य की भी नियमित रूप से जांच करवानी चाहिए। विशेषज्ञों का मानना है कि वो लोग अधिकतर मानसिक रूप से बीमार होते हैं, जो तनाव में रहते हैं। इसलिए तनाव से बचने और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है कि अपनी निजी और प्रोफेशनल जिंदगी को अलग-अलग रखें। उन्हें आपस में न मिलाएं।

करीबी लोगों के साथ रहें

आज के समय में ज्यादातर लोग अकेले रहने लगे हैं जिससे मानसिक स्वास्थ पर गहरा असर पड़ता है। इसलिए अगर आप मानिसक रूप से सही नहीं हैं तो अकेले रहने के बजाय ज्यादा से ज्यादा उन लोगों के साथ रहने की कोशिश करें, जिनसे आप प्यार करते हैं और जो आपको प्यार करते हैं। वह परिवार हो सकता है या फिर दोस्त, जिन पर आप भरोसा करते हो। ये आपके परिवार व दोस्त भी हो सकते हैं।

नई गतिविधि में मन लगाएं

मानसिक रूप में स्वस्थ रहना है तो सबसे पहले ये जरूर ध्यान रखें कि आप अक्सर ही कुछ नया काम करें या फिर वह काम करें जिसे करके आपको खुशी महसूस हो। ऐसा करने से नई- नई चीजों को सीखने का अवसर मिलता है। मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए अपने शौक और पसंद को भी जिंदा रखें। सप्ताह या महीने में एक या दो बार कहीं न कहीं घूमने जाएं।

खुद को व्यक्त करें

कभी कभी ऐसा होता है कि अपने मन की बात मन में रखने से घुटन महसूस होता है तो ऐसे में वो धीरे- धीरे मन में बैठ जाता है। इस वजह से कहीं न कहीं हम मानसिक रूप से परेशान रहने लगते हैं और ये हम धीरे धीरे कब मानसिक रूप से बीमार हो जाते हैं इसका पता भी नहीं चल पाता। ऐसे में अगर आपको जब भी ऐसा लगे कि अपनी बात दूसरों के सामने रखनी चाहिए तो बात करें और आप क्या सोचते हैं, यह भी बताएं।

यह भी पढ़ें : मानसिक स्वास्थ्य : अकेलेपन से जूझ रही हैं 3 में से 1 महिला, लॉकडाउन में तेज़ी से बढ़ा आंकड़ा

खुलकर बात करें

आप अक्सर ही अपने मन में कुछ न रखें बल्कि अगर आप किसी से कुछ कहना चाहते हैं तो इसमें हिचकिचाए नहीं वो आपके बारे में क्या सोचेगा या फिर कैसे रिएक्ट करेगा? आपके मन में जो भी बात हो उसे खुलकर बयां करें।

मनोवैज्ञानिक से संपर्क करें

अगर आप मानसिक रूप से स्वस्थ रहना चाहते हैं और किसी तरह के तनाव या मानसिक विकारों से जूझ रहे हैं तो हमारे नेटवर्क पर मौजूद मनोवैज्ञानिक श्रुति पकरासी से संपर्क कर सकते हैं। ये आपके व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुसार सत्र का निर्माण करती है और इससे जल्द परिणामों के मिलने का भी वादा करती है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *