Read Home » read » कल्याण और आध्यात्मिकता » सावन में इस विधि से करें भगवान शिव की पूजा, मिलेगा मनचाहा वर

सावन में इस विधि से करें भगवान शिव की पूजा, मिलेगा मनचाहा वर

  • द्वारा
सावन

हिंदू धर्म में सावन का काफी ज्यादा महत्व है, इसे करने से कई सारी मनोकामना पूरी होती है। साल में एक बार आने वाला ये त्योहार पूरे माह भर चलता है। यह भगवान शिव का अत्यंत प्रिय माह माना जाता है इसलिए इस माह में सभी शिव भक्त भगवान शिव को प्रसन्न करने में लग जाते हैं। शास्त्रों की मानें तो जो भी भक्त इस माह में भगवान शिव की पूजा पूरे विधि-विधान से करते हैं उन पर भोलेनाथ की विशेष कृपा होती है। सावन के महीने में पड़ने वाले सोमवार का बहुत महत्व माना जाता है।

कब है सावन का पहला सोमवार ?

इस बार सावन का पहला सोमवार 6 जुलाई को है और सावन माह की शुरूआत भी इसी दिन से हो रही है। इस बार सावन माह में कुल पांच सोमवार पड़ेंगे। सावन के महीने में अद्भुत संयोग बन रहा है क्योंकि सावन की शुरूआत का पहला दिन ही सोमवार है, वहीं सावन के अंतिम दिन यानी 3 अगस्त को भी सोमवार का ही दिन है। शास्त्रों में सावन के सोमवार की चर्चा की गई है जिसमें बताया गया है कि इस व्रत को करने से मां पार्वती की शादी भगवान शिव से हुई। कहते हैं कि माता ने भगवान शिव को पाने के लिए 16 सोमवार का व्रत विधि-पूर्वक किया था।

यह भी पढ़ें : ज्योतिष: जानें कौन सी है साल 2020 की सबसे भाग्यशाली राशि

कैसे करें सावन सोमवार का व्रत

सावन के सोमवार का व्रत करने की खास विधि होती है जिसके पालन करने सेअद्भुत लाभ मिलता है। यह व्रत ब्रह्म बेला में उठकर गंगा में या फिर घर में पानी से स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण करें। अगर आप चाहे तो श्वेत वस्त्र धारण कर सकते हैं। इसके बाद आप भगवान सूर्य को जल का अर्घ्य दें और फिर पास के किसी मंदिर में जाकर शिवलिंग की पूजा करें।

मंदिर में जाकर सबसे पहले जलाभिषेक करें, फिर पंचामृत से रुद्राभिषेक और फिर जलाभिषेक करें। इसके बाद बिल्व पत्र, भांग, धतूरा आदि से पूजा करें। इसके बाद उनसे योग वर और शीघ्र शादी की कामना करें। शाम में आरती करने के बाद फलाहार करें। इसके अलावा ध्यान रहे कि अगले दिन हर रोज की तरह पूजा-पाठ करने के बाद व्रत खोलें। इसके बाद जरूरतमंदों को दान-दक्षिणा दें फिर भोजन ग्रहण करें ।

यह भी पढ़ें : ज्योतिष: ग्रह चंद्रमा और भावनाएं एक दूसरे से कैसे हैं संबंधित ?

दूर करें वैवाहिक जीवन की समस्याएं

वैवाहिक जीवन में कई बार कुछ समस्याएं उत्पन्न होती रहती है लेकिन इसके बढ़ने से जीवन में समस्याएं बढ़ जाती है। इस सावन माह में आप अपनी इन समस्याओं से मुक्ति पा सकते हैं। सावन में किया गया उपाय आपको इन समस्याओं से छुटकारा दिला सकता है।

वैवाहिक जीवन की खटास दूर करने के लिए पति-पत्नी को मिलकर पूरे श्रावण मास दूध, दही, घी, शहद और शक्कर अर्थात पंचामृत से भगवान शिव शंकर का अभिषेक करना चाहिए।

आप चाहे तो ॐ पार्वती पतये नमः मंत्र का रुद्राक्ष की माला से 108 बार जाप करें और भगवान शिव के मंदिर में शाम के समय गाय के घी का दीपक संयुक्त रूप से जलाएं।

अपने पसंदीदा ज्योतिष से संपर्क करें

सावन माह में ज्योतिष से संबंधित अगर आप कोई जानकारी लेना चाहे तो Spark.live पर मौजूद ज्योतिष विशेषज्ञ स्वदेश घोष आचार्य से परामर्श ले सकते हैं। स्वदेश घोष आचार्य ज्योतिष के साथ ही साथ तंत्र विद्या व आध्यात्मिक सलाह भी देते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *