Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » कल्याण और आध्यात्मिकता » कोरोना संकट में ज्योतिष कैसे कर सकता है आपकी मदद

कोरोना संकट में ज्योतिष कैसे कर सकता है आपकी मदद

  • द्वारा
astrology corona virus

भारत को एक धार्मिक देश के रूप में देखा जाता है, यहां आस्था व ज्योतिष शास्त्र का अपना अलग ही महत्व है। पर कोरोना के इस कहर से मानो लोगों की जिंदगी जैसे थम सी गई है। सभी लोग लॉकडाउन की वजह से घर में बंद हो चुके हैं, जो थोड़ी बहुत सरकार ने छूट दी भी है उसमें भी अब बाहर निकलने से डर लग रहा है क्योंकि कोरोना जैसी महामारी के चपेट में कोई नहीं आना चाहता। पिछले कुछ माह से लोगों की दिलचस्पी कोरोना संकट से निदान के अलावा ज्योतिष विज्ञान में भी बढ़ रही है। हर कोई ये जानना चाह रहा है कि आखिर देश और दुनिया के ऊपर से इस वायरस का खतरा कब टलेगा? अर्थव्यवस्था पटरी पर वापस कब आएगी? इस संकट के खत्म होने के बाद भी क्या इसका असर हमारे जीवन पर होगा ?

astrology corona virus

कहा जाता है कि भारतीय ज्योतिष शास्त्र में करीब 150 से ज्यादा विद्याएं हैं जिनमें से सभी विद्या भविष्य बताने में सक्षम मानी जाती है। यही वजह है कि ज्योतिष को लेकर आज के समय में ज्ञानी तो कम ही मिलेंगे, जबकि भटकाने वाले ज्यादा मिलते हैं। ज्योतिष को एक पुराने अध्ययन के रूप में देखा जाता है जो समस्त ब्रह्मांड पर प्रकाश डालता है और ग्रहों की चाल व तारों की दुनिया को जानने का एकमात्र साधन बताया जाता है। ज्योतिष के इतिहास पर अगर गौर करें तो माना जाता है कि इसका सबसे प्राचीन रूप भारत और चीन में ही देखने को मिला था।

ज्योतिष का उपयोग आमतौर पर जीवन के सभी सामान्य पहलुओं से संबंधित घटनाओं को समझने और एक अनुमान लगाने के लिए किया जाता है। विस्तृत रूप से देखा जाए तो इसका उपयोग व्यक्तिगत रीडिंग के लिए किया जाता है, ताकि व्यापार संबंधी मुद्दों, करियर, वित्त, स्वास्थ्य, विवाह, रिश्तों आदि पर गहरी जानकारी प्राप्त की जा सके। यही नहीं इसे जानने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कई विधाएं हैं। ज्योतिष विद्या के माध्यम से न केवल आपको भविष्य की जानकारी मिलती है, बल्कि इसमें कष्ट के निवारण के लिए ज्योतिषीय उपाय भी बताए जाते हैं।

कोरोना संकट में ज्योतिष से पाएं मदद

इसमें कोई दो राय नहीं है कि कोरोना संकट के कारण आपको एक आदत तो जरूर लग गई है कि आप अपनी सारी समस्याओं का समाधान ऑनलाइन ही खोजने में लगे हुए हैं। ऐसे में भला ज्योतिष का क्षेत्र पीछे कैसे रह सकता है। जब से कोरोना ने अपना प्रकोप दिखाना शुरू किया तब से लोग लगातार अपने जॉब, करियर, बिजनेस व हेल्थ को लेकर ज्योतिष से सवाल कर रहे हैं। अगर आपके भी मन में कुछ ऐसे सवाल हैं तो आपके उन सभी सवालों का जवाब पुलकित गुप्ता दे सकते हैं।

पुलकित गुप्ता कहते हैं “बचपन से, वह ग्रहों और हम पर उनके प्रभाव से मोहित है – ठीक वैसे ही जैसे पूर्णिमा पर समुद्री ज्वार आते हैं। उनका मिशन सर्वत्र ज्योतिष ज्ञान फैलाना है ताकि सभी को इससे लाभ मिल सके। “

ज्योतिष विद्या में पुलकित गुप्ता को अच्छा खासा अनुभव है, ये महज 12 साल की उम्र से ही ग्रहों की चाल व उनसे जुड़ी सभी जानकारी में रूचि रखने लगे थें। पुलिकत गुप्ता के इस सत्र में आपको रोजमर्रा की जिंदगी में आने वाली समस्याओं के उपाय प्राप्त होंगे। इसके अलावा अपने जीवन में पिछली घटनाओं का विवरण पा सकते जो आपकी कुंडली से मेल खाता है, तथा अपनी शिक्षा, करियर और नौकरी के अवसरों पर भी सुझाव ले सकते हैं। अगले 2-3 वर्षों के लिए सामान्य भविष्यवाणी तथा जीवन में आने वाली समस्याओं का उपचार भी पुलकित गुप्ता की मदद से आसानी से पा सकते हैं। खास बात तो यह है कि ज्योतिषीय समाधानों के साथ-साथ कर्म संतुलन पर भी इनका विश्वास है इसलिए यह लोगों को उनके अच्छे कर्मों के लिए सही मार्गदर्शन भी कराते हैं।

पुलकित गुप्ता से ज्योतिष के बारे में जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *