Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » कोरोना से जंग, योग के संग ( Fight Corona with Yogasana)

कोरोना से जंग, योग के संग ( Fight Corona with Yogasana)

  • द्वारा

योग और प्राणायाम रामबाण है जो दुनिया धीरे-धीरे जागृत हो रही है। चाहे वह संक्रमण हो, मनोदैहिक बीमारियाँ हों या जीवनशैली से जुड़ी बीमारियाँ, योग और प्राणायाम सब कुछ में असरदार है .

यहां तक कि कोरोनावायरस के मामले में, जो लोग योग, ध्यान और प्राणायाम का अभ्यास कर रहे हैं, उन्होंने उच्च स्तर की प्रतिरक्षा और फेफड़ों की ताकत का अनुभव किया है, जिससे वायरस के लिए उनके शरीर को प्रभावित करना मुश्किल हो जाता है।

कोरोना के तीन पहलू हैं जिससे वह स्वस्थ शरीर पर आक्रमण करता है पहला है तनाव, दूसरा श्वसन तंत्र और तीसरा प्रतिरक्षा प्रणाली. ऐसे में योग एक बेहतर विकल्प है जिससे तनाव को कम करने और श्वसन तंत्र प्रणाली की शुद्धि करके, प्रतिरक्षा शक्ति को मजबूत बनाया जा सकता है.


हममे से बोहोत लोग घर पर योग करते है. और बोहोत लोग एक साथ और लोगों के साथ योग करना पसंद करते है. लेकिन लॉकडाउन के चलते बाहर निकलना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है. तोह इंटरनेट की सेवाएं कब काम आएंगी? ऐसे में आप मदद ले सकते है सागर कांबले की .

योग आचार्य सागर कांबले योग के विभिन्न आसन और आयाम के माध्यम से आपके तन और मन की शुद्धि के लिए प्रयत्नशील हैं. उनके द्वारा निर्देशित इस सत्र में योग के विभिन्न आयाम जैसे अष्टांग योग, विन्यास योग, प्राणायाम, शक्ति योगा आदि से आप शारीरिक और मानसिक शक्ति बेहतर करके मोटापा, अस्‍थमा, गठिया, मधुमेह,श्वसन तंत्र संबंधित रोग आदि से मुक्त हो सकते हैं.सागर कांबले पुणे के एक अनुभवी योग आचार्य है.

उन्होंने लगभग ९५ साल पुराने कैवल्यधाम स्वास्थ्य और योग अनुसंधान केंद्र जैसे एक आध्यात्मिक, चिकित्सीय और अनुसंधान केंद्र से योग की शिक्षा प्राप्त किया. उनके योग कला में आधुनिक विज्ञान के साथ प्राचीन योग कलाओं और परंपरा का समन्वय है. इस योग कौशल से वह बेहद सरल ढंग से स्वस्थ जीवन जीने के लिए प्रेरित करते हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *