Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » कल्याण और आध्यात्मिकता » हिंदू ज्योतिष में राशि चिन्हों की प्रमुख विशेषताएं (Features of zodiac signs)

हिंदू ज्योतिष में राशि चिन्हों की प्रमुख विशेषताएं (Features of zodiac signs)

  • द्वारा
astrology horoscope

आपने कभी गौर किया होगा तो हमारे ब्रह्मांड में आपको कई सारे अनगिनत तारों, ग्रह, उपग्रह व पिण्ड नजर आते हैं, जिनमें से कई बार आपको तारों का झुंड भी नजर आता होगा। कहा जाता है कि आकाश में इस तरह के कुल २७ समूह होते हैं, जिन्हें नक्षत्र भी कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र में इन २७ नक्षत्रों को १२ भाग यानी नक्षत्रों के छोटे-छोटे समूह में बांट दिया गया है, नक्षत्रों के यही छोटे-छोटे १२ समूह को राशि चक्र कहा जाता है।

अब आपको ये लग रहा होगा कि राशिचक्र का निर्धारण कैसे होता होगा? तो बता दें कि आकाश मंडल में परिक्रमा करते हुए चंद्रमा हमारे जन्म के समय जिस राशि में होगा, वहीं हमारी राशि कहलाएगी। इसे चंद्र राशि कहा जाता है जिसे भारतीय ज्योतिष में मानते हैं।

ज्योतिष मेघराज भारद्वाज जी द्वारा जानें किस प्रवृति के होते हैं चंद्र राशि वाले जातक

मेष राशि

इस राशि वाले जातकों का रंग गेहुंआ होता है, आंखें ग्रे और भूरे रंग में होती हैं। ये जातक स्वभाव से सरल, स्पष्ट, समझदार होते हैं। इनकी गर्दन लंबी होती है वहीं ये बहुत कम बात करते हैं लेकिन चतुराई में आगे होते हैं। इनका चेहरा हंसमुख होता है और तेज चलना इनकी प्रवृति होती है। इनके चेहरे पर अक्सर गुस्सा नजर आता है, सफर करना इन्हें बेहद पसंद है। बुद्धि व विवेक के मामले में ये मध्यम होते हैं शायद यही कारण है कि ये अक्सर ही किसी के दिशा निर्देश पर काम करना पसंद करते हैं। स्वतंत्रता इनको बहुत पसंद है।

यह भी पढ़ें : ये हैं मशहूर २५ ज्योतिषी (Top 25 Astrologers)

वृषभ राशि

ये जातक आकर्षक पर्सनैलिटि के होते हैं, हाइड मीडियम व गोरे रंग वाले होते हैं इनकी आंखे बेहद ज्यादा खूबसूरत होती है। ये मेहतनी प्रवृति के होते हैं व पूराने रिति रिवाजों को फॉलोव करते हैं। इसके अलावा ठंडे मिजाज के होते हैं, लोगों की बातों को कम सुनते हैं। घुमना फिरना पसंद है। जो भी काम करते हैं पूरे कॉन्फिडेंस के साथ करते हैं। सहने की क्षमता इनके अंदर काफी अधिक होती है।

मिथुन राशि

इन जातकों का चेहरा छोटा होता है, और ये दोहरी स्वभाव के होते हैं। पर्सनैलिटी इनकी काफी आकर्षक होती है। दिमाग इनका बेहद तेज होता है। परिस्थतियों के अनुसार ये हमेशा ढ़ल जाते हैं। शारीरिक ढ़ाचें की बात करें तो लंबे होते हैं। विनम्र बोलने की आदत होती है। दिमाग इन्हें बहुत है इसलिए ये जो भी बोलते हैं उसपर इनकी पकड़ अच्छी होती है। गुस्सा जल्दी आता है पर शांत भी जल्द हो जाते हैं।

कर्क राशि

ये जातक बेहद भावुक होते हैं, इन्हें तंत्र मंत्र विद्या में विश्वास होता है। इन्हे प्राकृतिक चीजों में काफी रूचि होती है। ये हमेशा अपने जन्म स्थान से बाहर ही रहते हैं। पानी से इनको बेहद लगाव होता है। घुमना फिरना भी पसंद आता है। तेज चलते हैं व कड़वी बातें भी बोलते हैं। नई नई चीजों का प्रयोग भी करते हैं। काम में काफी धीरे होते है। इनके किस्मत में पुस्तैनी जायदाद होती है। पेट संबंधी बीमारियों से ये परेशान रहते हैं।

ज्योतिष के अनुसार जानें इन राशि चिन्हों में हैं खास विशेषताएं

सिंह राशि

ये जातक काफी हिम्मत वाले होते हैं, लंबे होते हैं। इनकी आकर्षण शक्ति काफी ज्यादा होती है। सुंदर आंखें, माथा चौड़ा अच्छी पर्सनैलिटी वाले होते हैं। इन जातकों का मन हमेशा साफ रहता है। काम में सफलता काफी कम मिलता है लेकिन इसके बावजूद ये दुखी नहीं होते। ३० वर्ष की उम्र के बाद ये अच्छी तरक्की करते हैं। जलन स्वभाव के होते हैं, अपने से छोटे के साथ कड़े स्वभाव के हो जाते हैं।

कन्या राशि

कन्या राशि वाले काफी शर्मीले, नरम स्वभाव के होते हैं। ये लोग काफी प्रैक्टिकल होते हैं। काफी तेज बुद्धि वाले होते हैं और इनका प्रेम काफी उच्च कोटी का होता है। काम करने में थोड़े धीमे होते हैं। बेहद ज्यादा चीजों को देखते हैं, धैर्य इनके अंदर बहुत होता है। पेट व स्कीन की बीमारियों से ये पेरशान रहते हैं। इनको बेहद कम गुस्सा आता है।

यह भी पढ़ें : वैदिक ज्योतिष: कौन सी राशियों के अंदर होती हैं क्या खूबियां

तुला राशि

ये लोग काफी पतले व लंबे होते हैं, लॉजिकल रहने में भरोसा रखते हैं सपनों की दुनिया में नहीं जीते। स्वभाव से भावुक होते हैं। काफी जल्दी किसी से घुल मिल जाते हैं। काफी सेंसेटिव होते हैं व धार्मिक किस्म के भी हाते हैं। हमेशा सही गलत को सोच समझकर ही जीवन में आगे बढ़ते हैं। कम बोलते हैं और काम करने में भरोसा रखते हैं। दिमाग काफी तेज होता है।

वृश्चिक राशि

इन जातकों का स्वभाव काफी मिला जुला होता है। आत्मविश्वास से भरे लेकिन बेहद जल्द गुस्सा करने वाले होते हैं। कई बार ये इतना गुस्सा हो जाते हैं कि कुछ सोचते समझते नहीं है। प्रेम से बात नहीं करते बेहद उल्टी भाषा बोलते हैं। दिमाग इनके पास काफी होता है जिसकी वजह से ये पैसे खूब कमाते हैं।

कुंभ राशि

अब बात करेंगे इन जातकों की तो इनका माथा छोटा, चेहरा कम आकर्षक होता है। सीरियस होते हैं व ख्याली पुलाव पकाना इन्हें काफी पसंद आता है। दोस्ती बेहद जल्दी करते हैं। बुरे कर्म की वजह से डरते हैं इसलिए ये जीवन में अच्छे कम करना चाहते हैं। आमदनी के स्रोत एक से अधिक होते हैं।

मीन राशि

ये लोग हाइट में काफी छोटे होते हैं, आलसी किस्म के प्रवृति वाले होते हैं। जल्द भरोसा करने वाले व पॉपुलर लोगों से इनकी दोस्ती होती है। इमोशनल स्वभाव के होते हैं। इनका विल पावर भी कमजोर होता है, ईमानदारी के मामले में ये खरे नहीं होते। धौंस दिखाने वालों में ये आते हैं।

मकर राशि

ये जातक अक्सर ही पतले शरीर वाले, दांत पतले, मजबूत हड्डियों वाले होते हैं। कई बार ऐसा होता है कि ये अपनी पर्सनल व सोशल लाइफ को अलग रखते हैं। ये रिजर्व किस्म के होते हैं और इनकी इच्छाएं काफी बड़ी होती हैं। आत्मबल बहुत ज्यादा होता है। २५ से ३० साल की उम्र में ये ज्यादा तरक्की करते हैं।

यह भी पढ़ें : ज्योतिष समस्याओं को दूर करने में कैसे मददगार होते हैं रत्न

धनु राशि

ये बेहद ही खुशमिजाज किस्म के होते हैं, सही गलत की पहचान रखने की क्षमता इनमें होती है। सकारात्मक सोच रखते हैं इसलिए जो भी लक्ष्य साधते हैं उसे पूरा करते हैं। अमीर घराने में ये जन्म लेते हैं। धीमा बोलना इनका स्वभाव होता है, चेहरा लंबा होता है। ईमानदारी में ये सबसे आगे होते हैं।

आज के समय में किसी को एक दो मुलाकात में समझ पाना व असंभव है इसलिए इन विशेषताओं के आधार पर आप किसी भी व्यक्ति की राशि के अनुसार उसकी बुनियादी बातें जरूर पता कर सकते हैं। इससे आपको किसी को समझने में काफी मदद मिल सकती है। ज्योतिष शास्त्र से संबंधित जानकारियां प्राप्त करने के लिए पुलकित गुप्ता से संपर्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *