Read Home » read » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » पोटेशियम युक्त आहार के सेवन से हड्डी और मांसपेशियां होती हैं मजबूत

पोटेशियम युक्त आहार के सेवन से हड्डी और मांसपेशियां होती हैं मजबूत

  • द्वारा
potasium food

हमारा शरीर कई महत्वपूर्ण तत्वों से मिलकर बना है जिनका संतुलन बिगड़ने पर कई तरह की समस्याओं का सामना भी हमें करना पड़ता है। इनमें से ही एक है पोटेशियम जो कि आवश्यक मिनरल होता है। इसकी मात्रा को बनाए रखने के लिए पोटेशियम युक्त आहार लेने की आवश्यकता होती है।

पोटेशियम में कमी होने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा इसकी कमी से थकान व मांसपेशियों में ऐंठन महसूस होने लगता है। पोटेशियम हमारे शरीर के लिए सबसे महत्वपूर्ण खनिजों में से एक है इसके बगैर शरीर के कई फंक्शन काम करना बंद कर देते हैं और स्वास्थ्य संबंधी कई बीमारियां भी जन्म लेने लगती हैं। हालांकि शरीर में पोटेशियम की मात्रा अधिक होने से भी समस्या होती है। आप चाहे तो किसी आहार विशेषज्ञ से पोटेशियम युक्त आहार की सलाह ले सकते हैं।

पोटेशियम न केवल शरीर में इलेक्टोलाइट संतुलन को बनाए रखता है, बल्कि हृदय, गुर्दे, मस्तिष्क और मांसपेशियों के उतकों के सही तरह से कामकाज के लिए भी बेहद आवश्यक है। इसलिए आज हम आपको पोटेशियम से भरपूर कुछ आहार के बारे में बताएंगे। डायटीशियन का कहना है कि हमारे शरीर को सामान्यत: एक दिन में 1600 से 2000 मिलीग्राम तक पोटेशियम की आवश्यकता होती है। जिसे हम इन पोटेशियम युक्त आहार का सेवन कर पूरा कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : शरीर में आयरन की कमी को दूर करेंगे ये आयरन युक्त आहार

भरपूर पोटेशियम युक्त आहार

सफेद बीन्स

अगर आपके शरीर में पोटेशियम की कमी महसूस हो रही है तो आप सफेद बीन्स का सेवन कर सकते हैं ये पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत है। मात्र इसके सेवन से भी शरीर में पोटेशियम की कमी को दूर किया जा सकता है। एक कप सफेद बीन्स में करीबन 3636 मिलीग्राम पोटेशियम और 673 कैलोरी पाई जाती है। इसके अलावा ये फाइबर व फोलेट का भी एक अच्छा स्रोत माना गया है। फाइबर से पाचन तंत्र सुधरता है। वहीं फोलेट से दिमाग की सेहत ठीक होती है।

पालक

आप चाहे तो पोटेशियम की मात्रा को पूरा करने के लिए पालक का भी सेवन कर सकते हैं। बता दें कि पालक में 167 ग्राम पोटेशियम और 7 ग्राम कैलोरीज़ होती हैं। इसके अलावा इसमें आयरन व कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आयरन से बालों बालों से जुड़ी समस्या, थकान व एनिमिया की शिकायत दूर होती है, वहीं कैल्शियम से हड्डियां, दांत और कार्डियक मसल्स मजबूत होती हैं।

केला

वैसे केले में पोटैशियम पाया जाता है, जो कि ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए बहुत फायदेमंद है। एक केले में 487 मिलीग्राम पोटेशियम और 121 कैलोरीज़ होती हैं। हालांकि इसे खाने से भरपूर एनर्जी मिलती है और इनमें मौजूद फाइबर से पाचन तंत्र भी ठीक रहता है। केले का शेक पेट को ठंडक पहुंचाता है।

दही

शायद आपको यह न पता हो कि दही में पोटेशियम भी प्रचुर मात्रा में होता है। दही के एक कंटेनर में 352 मिलीग्राम पोटेशियम और 138 कैलोरी होती हैं। इसमें कैल्श्यिम की भी भरपूर मात्रा में होता है, जो हमारी हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़ें : फाइबर युक्त आहार: वो खाद्य पदार्थ जो पाचन तंत्र में करते हैं सुधार

शकरकंद

शकरकंद को भी आजकल हेल्दी फूड के रूप में काफी पसंद किया जा रहा है। एक छोटे आकार के शकरकंद से रोजाना की जरूरत का 12 प्रतिशत पोटेशियम आपको मिल सकता है। इसके साथ ही इसमें कैलोरी की मात्रा भी कम होती है। पौष्टिक आहार का सेवन बढ़ाने के लिए यह बेहतरीन विकल्प है। शकरकंद में बीटा केरोटीन और विटामिन ए भी भरपूर मात्रा में होता है इतने सारे गुणों से भरपूर होने के कारण ही शकरकंद को सुपरफूड भी कहते हैं। आप चाहे तो इसके अलावा अनार, नारियल पानी भी ले सकते हैं इससे भी शरीर को पोटेशियम मिलता है।

खजूर

वैसे तो ये अपनी गर्म तासीर के लिए जाना जाता है, सर्दियों में ये सबका फेवरेट होता है। स्‍वाद में लाजवाब होने के साथ ही साथ इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी होते हैं। आधा कप खजूर में 584 मिलीग्राम पोटेशियम होता है। खजूर को आप दूध के साथ भी खा सकते हैं। इसे खाने से एनीमिया की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

आलू

हम सभी के घरों में आलू का सेवन किया जाता है ये लगभग सभी सब्जी में डाला जाता है। अगर आप आलू को छिलके के साथ खायें तो इसमें 610 मिलीग्राम तक पोटेशियम ओर 145 कैलोरी होती हैं। आलू में विटामिन बी6 भी होता है जो स्‍वस्‍थ त्‍वचा के साथ-साथ अन्‍य कई खूबियों से लैस होता है। अगर आप आलू के गुण अपने अंदर पाना चाहते हैं तो इसे बेक करना ज्यादा अच्छा होता है क्योंकि तलने से इसके सभी गुण खत्म हो जाते हैं।

बेहतरीन डाइटिशियन की करें खोज

आहार व पोषण से संबंधी जानकारी जुड़ी कोई परेशानी पहले से है तो इसे खुद से फॉलो करने से बचें। वहीं हम बार बार कहेंगे कि इसे फॉलो करने से पहले डाइटिशियन डॉ. चारु मालपानी से अवश्य सलाह लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *