Read Home » read » जीवनशैली और रहन-सहन » ये लक्षण बताते हैं, हमें मेंटल थैरेपी की है आवश्यकता (Do I Need Therapy?)

ये लक्षण बताते हैं, हमें मेंटल थैरेपी की है आवश्यकता (Do I Need Therapy?)

  • द्वारा
Do I Need Therapy

हमारे जीवन में कई तरह की समस्याएं आती हैं जिनका सामना कई बार तो हम अच्छे से करते हैं लेकिन कई बार ऐसा होता है कि अब हम उन समस्याओं को नहीं सुलझा सकते हैं। क्योंकि हर चीज हमारे बस में नहीं होती है, इन छोटी छोटी चीजों से ही व्यक्ति मानसिक रूप से परेशान होता है और कब ये चीजें बड़ी बन जाती हैं किसी को भी पता नहीं चल पाता है। समय के साथ साथ ये छोटी चीजें ही मानसिक विकार का रूप ले लेती हैं। मेंटल थैरेपी के जरिए आप कई सारी समस्याओं से निजात पा सकते हैं।

वैसे जिस तरह हम अपनी शारीरिक समस्या के लिए डॉक्टर के पास जाते हैं उसी तरह मनोवैज्ञानिक काउंसर की आवश्यकता भी हमें पड़ती ही रहती हैं। ये हमारे मानसिक स्थिति से जुड़ी समस्याओं के उपचार के लिए बेहतर माने जाते हैं। हालांकि आप चाहे तो किसी भी तरह की समस्या के लिए मेंटल हेल्थ थैरेपी ले सकते हैं।

ये थैरेपी आपको एक मनोवैज्ञानिक काउंसलर ही दे सकता है। जाहिर सी बात है कि आपके लिए ये शब्द बिल्कुल नया होगा लेकिन ये बेहद काम की थैरेपी है। सबसे पहले तो आपको ये बता दें कि आखिर मेंटल हेल्थ थैरेपी होता क्या है और इसकी जरूरत किसे पड़ती है ?

यह भी पढ़ेंं: जीवन की उलझनों से निकलने के लिए बेहतर विकल्प दिखाते हैं मनोवैज्ञानिक काउंसलर

आज आप ऐसे जमाने में जी रहे हैं जहां कुछ भी नामुमकिन नहीं है इसलिए आए दिन किसी तरह की समस्याओं से जूझ रहे हैं जो हमें अंदर ही अंदर परेशान कर रहा है तो हमें मनोवैज्ञानिक काउंसलर से मदद ले लेनी चाहिए। थैरेपी आज के समय में बेहद जरूरी बन चुका है, क्योंकि आजकल की इस भागदौड़ भरी लाइफ में तनाव व चिड़चिड़ापन को दूर करने का महज एक यही कारगर उपाय है।

लेकिन ये बात भी सच है कि लोग मेंटल थैरेपी को कई बार गलत तरीके से ले लेते हैं। इस थैरेपी की आवश्यकता किसी भी व्यक्ति को पड़ सकती है इसके लिए जरूरी नहीं है कि आप किसी मानसिक बीमारी से ग्रसित है। अगर आपको छोटी छोटी चीजों में समस्या आ रही है तो भी आपको थैरेपी लेना चाहिए।

कब लेनी चाहिए मेंटल थैरेपी

अगर आपको वर्क से संबंधित समस्या है तो भी आप थैरेपी ले सकते हैं या फिर आपके परिवार में , रिश्तों से जुड़ी समस्या हैं तो भी आप ये थैरेपी ले सकते हैं। कई बार ऐसा भी लगता है कि हम अपने लाइफ के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं तो ऐसे में भी आप थैरेपी ले सकते हैं क्योंकि यह आपके पर्सनल ग्रोथ में भी मदद करता है। थैरेपी आपके सारे तनाव को दूर करने में मदद करती है।

इसके अलावा भी अन्य कई कारण हैं जैसे मानसिक रूप से असंतुलन होना यानि की किसी भी बात से अगर आप बेहद ज्यादा परेशान हैं तो आप मनोवैज्ञानिक काउंसलर से मिलें।

अगर आपको सामान्यत: घबराहट सा लगा रहता है जैसे हांथ में पसीना होना या फिर बीपी बढ़ना जो कि एक तरह का तनाव का ही कारण होता है ऐसे में मनोवैज्ञानिक काउंसलर आपकी मदद कर सकता है।

कई बार ऐसा भी महसूस होता है कि हम दुविधाओं से घिरे होते हैं और उसमें हमारे परिवार या फिर दोस्त कोई भी मदद नहीं कर सकता है ऐसे में हम किसी प्रोफेशनल काउंसलर से मिल सकते हैं जो कि आपको मेंटल थैरेपी देते हैं।

यह भी पढ़ेंं: हद से ज्यादा बढ़ जाए मानसिक तनाव, तो यहां जानें क्या करें

मनोवैज्ञानिक काउंसलर आपको सही रास्ता दिखाता है, वो एक अनुभवी इंसान होता है जो कि आपको आपकी समस्याओं से लड़ने के लिए तैयार करता है। इन समस्याओं से उबरने के लिए ही जो तरीके अपनाए जाते हैं उसे मेंटल हेल्थ थैरेपी कहा जाता है।

अगर आपको लगता है कि आप भी अपने लाइफ में किसी समस्या से परेशान है या फिर आपको एक सही सलाहकार की आवश्यकता है तो आप येशा झावेरी से मदद ले सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *