आपने देखा ही होगा कि गांव के लोगों काफी पतले होते हैं, बजे इसके कि उनका खराक भी ज़यादा होता हैं, वहां तो जिम भी नहीं होते, तो वे अपने वज़न को नियंत्रित कैसे रखते हैं? घर काम से! घर और खेतों में काम करके ही उनके शरीर को इतना व्यायाम मिल जाता हैं, कि उनको किसी अन्य वर्कआउट कि ज़रुरत नहीं पढ़ती।

१. बर्तन धोना

कई भारतीय घरों में भी डिश्वॉशर्स का इस्तेमाल हो रहा हैं। लेकिन अगर आपको अपने मसल्स को टोन करना हैं, तो बर्तनों को खुद अपने हाथ से धोए। इस से आपकी चर्बी पिघलने लगेगी और मसल्स भी फर्म हो जाएंगे।

२. कपडे धोना

आज के समय में भी कई लोग अपने हाथ से कपडे धोते हैं। नीचे बैठके कपडे धोने से आपका अच्छा वर्कआउट तो हो जाएगा, लेकिन पीट भी दुखने लग सकता है जो आगे जाके रीड की हड्डी के लिए बुर साबित हो सकता हैं। हो सके तो एक ऊँचे स्तर पर धोए। अगर आपके पास वाशिंग मशीन है तो भी आपकी अच्छी कसरत होगी। कपडे निकाल के रस्सी पर सुखना, उनको इस्त्री करना, वगेरा।

३. पोंछा लगाना

डंडे वाले पोछे का इस्तेमाल थोड़े समय के लिए बंध करें और फर्श पर झुक कर खुद पोछा करें। आपके पेट की मासपेशिया फर्म हो जाएगी। यह करते समय ध्यान दे कि आप अपने पीट पर ज़्यादा ज़ोर नहीं दे रहें वार्ना यह आपकी रीड की हड्डी के लिए ठीक नहीं होगा। हो सके तो घुटनों पर “नी कैप्स”ज़रूर लगाए। यह आपके घुटनों पर प्रेशर आने से उनको बचाएगा।

४. रसोई में नाचे

इसका मतलब यह नहीं कि सारा सामान गिरा दे , या तेल वगेरा अपने ऊपर गिरा लें। संभल कर हर कदम लें। लेकिन थोड़ी मस्ती भी करें। सब्ज़ी काट ते समय थोड़ा झूमे। थोड़ी कमर हिलाए। थोड़ा यहाँ वह चले। इस से कैलोरीज भी कम होंगी और मन भी लगा रहेगा। और हां,म्यूजिक चलाना न भूले।

५. घर के सामान से वेट लिफ्टिंग

डंबल्स नहीं है तो क्या हुआ, भाई, घर का सामान हल्का है क्या? कचरे कि थैली, गंदे कपड़ों का वज़न, पानी से भरे १ लीटर के बोतल , किराने के सामान कि थैली, इनसब से अपने बाहों को तगड़ा बनाए। थोड़ी वेट लिफ्टिंग करें।

यह जो भी मैंने आपको बताया हैं, पढ़ते समय आपको ज़रूर लगा होगा कि यह सिर्फ लड़कियों के लिए हैं। ऐसा बिलकुल नहीं हैं। घर सबका तो काम भी सबका। लड़के भी बराबर से फ़ायदा उठाए घर पर कैलोरीज कम करने का। जीम जाने का खर्च भी बच जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here