Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » जीवनशैली और रहन-सहन » व्यक्तित्व विकास के लिए 5 ज़बरदस्त टिप्स| Best Personality Development Tips

व्यक्तित्व विकास के लिए 5 ज़बरदस्त टिप्स| Best Personality Development Tips

  • द्वारा

हम सभी में जन्म से ही कोई न कोई खास गुण जरूर होता है जो कि हमें औरों से अलग दिखाता है। लेकिन हम अपने उस गुण को पहचान नहीं पाते हैं इसलिए जरूरत है तो बस अपने अंदर की सोई हुई आकांक्षाओं को जगाने की और अपने व्यक्तित्व को निखारने की। क्योंकि यहीं पर व्यक्तित्व विकास की प्रक्रियाएँ काम करती हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर व्यक्तित्व विकास होता क्या हैं? कैसे हम अपने अंदर के व्यक्तित्व विकास कर सकते हैं तो आज इस लेख में हम आपको इन सभी सवालों के जवाब देने जा रहे हैं…

संंजीवनी गुलाटी से संंपर्क करने के लिए यहां क्लिक करें

वो कहावत तो आपको याद ही होगा- फर्स्ट इंप्रेसन इज लास्ट इंप्रेसन। यह पूरी तरह से सत्य भी है। spark.live पर मौजूद संजीवनी गुलाटी आपकी इस समस्या को समझती हैं और इससे संबंधित परामर्श भी दे सकती हैं, संपर्क करने के लिए क्लिक करें ।

व्यक्तित्व विकास क्या है?

बाहर से सुंदर व आकर्षक दिखना तो हर कोई चाहता है लेकिन आंतरिक सुंदरता पर किसी का ध्यान नहीं जाता है जो कि सही रूप से आपके तरफ लोगों को खींचती है। दरअसल यहां आंतरिक सुंदरता से अर्थ व्यक्तित्व विकास का है। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार व्यक्ति के नैसर्गिक, मनोवैज्ञानिक एवं व्यवहार परक तत्वों का सामूहिक समन्वय व संयोजन ही संपूर्ण व्यक्तित्व की पहचान है।

संपूर्ण व्यक्तित्व विचार, आचार, विचारों की समझ, दूरदर्शिता, सुसंस्कृत आचरण, व्यवहारिक सोच, कार्य करने के तरीके और जीवन के प्रति अपने दृष्टिकोण से मिलकर बनता है। देखा जाए तो व्यक्तित्व के कुछ पहलू को बदलना कठिन हो सकता है लेकिन व्यक्तित्व को मनचाही दिशा दे पाना संभव जरूर है।

यह भी पढ़ें : जीवन के हर क्षेत्र में लक्ष्य प्राप्ति के लिए क्यों जरूरी है व्यक्तित्व का विकास

व्यक्तित्व विकास के लिए 5 ज़बरदस्त टिप्स| Best Personality Development Tips

सकारात्मक सोच रखें

किसी भी चीज में बदलाव करने के लिए सबसे पहले जरूरी है आपकी सोच का सकारात्मक होना, क्योंकि नकारात्मक सोच जहाँ व्यक्ति को अंदर ही अंदर घोट देती है वही सकारात्मक सोच व्यक्ति को ऊर्जा प्रदान करती है। सकारात्मक सोचना हमें हमेशा सही परिणाम देता है। नकारात्मक सोच हमें तनाव की ओर ले जाती है। हर स्थिति में सकारात्मक सोच रखने की कोशिश करे।

यह भी पढ़ें : व्यक्तित्व विकास: बाहरी सुंदरता के साथ आंतरिक सुंदरता को निखारना है जरूरी

खुद पर रखें भरोसा

वो कहावत तो आपने जरूर सुनी होगी कि अगर आप मानते हो की आप उड़ सकते हो तो आप जरुर उड़ोगे। इसी तरह जीवन में अगर आप कुछ हासिल करना चाहते हैं तो सबसे ज्यादा जरूरी है कि आपको अपने ऊपर विश्वास रखना होगा। व्यक्तित्व विकास के लिए खुद पर भरोसा बेहद जरूरी है। इसलिए अपनी काबिलियत पर कभी भी शक ना कीजिये और हमेशा खुद से कहें कि मैं कर सकता हूँ, यह कार्य मेरे लिए है।

नया सीखने के लिए तैयार रहें

वो कहते हैं न कि अगर कोई बर्तन खाली रहता है तो उसमें सामान डाला जा सकता है ठीक उसी प्रकार से हमारा दिमाग भी होता है जो कि हमेशा नया सीखने को तैयार रहता है, इसलिए कोशिश करें कि अपने अहंकार को वश में रखें और महान बनने की बजाय लोगों की बातें ध्यान से सुनें और कुछ सीखें।

बॉडी लैंग्वेज में बदलाव

व्यक्तिगत विकास के लिए शारीरिक भाषा में सुधार लाना बेहद आवश्यक है, क्योंकि इससे आपके बारे में काफी कुछ पता चल जाता है। आपके खाने के तरीके से लेकर चलने, उठने, बैठने का तरीका ये दर्शाता है कि आप कैसे है। इसलिए जब भी बैठें सभी मुश्किलों को भूल कर आराम से बैठें और जब भी आपक किसी से बात करें आंख से आंख मिला कर बात करें।

यह भी पढ़ें : व्यक्तित्व विकास: बाहरी सुंदरता के साथ आंतरिक सुंदरता को निखारना है जरूरी

नए लोगों से जुड़ें

कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा नए लोगों से मिलें, और जीवन के नए स्तर को पहचाने। इससे जीवन में संस्कृति और जीवन शैली से जुडी चीजों के विषय में बहुत कुछ सिखने को मिलता है जो व्यक्तित्व विकास के लिए बहुत ही आवश्यक है। लोगों से जुड़ना या नेटवर्किंग पैसे कमाने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *